• Hindi News
  • International
  • Domestic Violence Increases By 26% If England Wins Euro Cup Finals, 38% If They Lose; Alcohol Behind This Behavior Of Men

दि इकॉनॉमिस्ट​ से विशेष अनुबंध के तहत:यूरो कप के फाइनल में इंग्लैंड जीते तो घरेलू हिंसा 26% बढ़ जाती है, हारे तो 38%; पुरुषों के इस बर्ताव के पीछे अल्कोहल

लंदन3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जब नेशनल टीम जीती या मैच ड्रा हुआ तो ऐसी रिपोर्ट में 26% इजाफा हुआ। टीम हारी तो इसमें 38% बढ़ोतरी हुई। - Dainik Bhaskar
जब नेशनल टीम जीती या मैच ड्रा हुआ तो ऐसी रिपोर्ट में 26% इजाफा हुआ। टीम हारी तो इसमें 38% बढ़ोतरी हुई।
  • यूरो कप के अब तक के फाइनल मैचों के बाद हिंसा पर रोचक अध्ययन

यूरोपियन फुटबॉल चैंपियनशिप का फाइनल इंग्लैंड और इटली के बीच 11 जुलाई को खेला जाएगा। इसमें कोई भी टीम जीते, 3 बातें अवश्यंभावी हैं। पहली, स्पोर्ट्स बार और घरों से देखने वालों की संख्या रिकॉर्ड तोड़ेगी। 2016 में फाइनल मैच 60 करोड़ लोगों ने देखा था। दूसरी, दिलकश संगीत। तीसरी, अल्कोहल की खपत बढ़ जाएगी। ब्रिटिश बीयर एंड पब एसोसिएशन ने अनुमान लगाया था कि 7 जुलाई को इंग्लैंड और डेनमार्क के सेमीफाइनल वाले दिन 1 करोड़ पिंट्स (गिलास) की बिक्री होगी। हालांकि उस दिन हर मिनट 50 हजार ड्रिंक्स खरीदे गए।

फैंस के चौथे बर्ताव की भी भविष्यवाणी की जा सकती है। वह है, फाइनल मैच के बाद घरेलू हिंसा का बढ़ना। 2014 में लैंकास्टर यूनिवर्सिटी ने तीन वर्ल्ड कप के फाइनल के बाद उत्तरी-पश्चिमी इंग्लैंड में पुलिस द्वारा दर्ज किए मामलों का अध्ययन किया। इसमें पता चला कि जब नेशनल टीम जीती या मैच ड्रा हुआ तो ऐसी रिपोर्ट में 26% इजाफा हुआ। टीम हारी तो इसमें 38% बढ़ोतरी हुई।

अन्य अध्ययन बताते हैं कि जब इंग्लैंड जीतती है तो बहुत बुरा व्यवहार बढ़ जाता है। शोधकर्ता यह गुत्थी सुलझाने में सफल हुए कि खेल खत्म होने के बाद पुरुष जीवनसाथी क्यों हिंसक हो जाते हैं। वे इसके पीछे किसी टीम के साथ अधिक भावनात्मक रूप से जुड़े होने को कारण बताते हैं।

यूरो 2020 में इंग्लैंड की काउंसिल द्वारा चलाया गया अभियान ‘शो डोमेस्टिक एब्यूज द रेड कार्ड’ कहता है कि किसी मैच से उम्मीद, जोश, कुंठा और अंतत: मायूसी के चलते लोग गुस्सा अपने जीवनसाथी पर निकालते हैं। यह समस्या नई नहीं है। शोधकर्ता कहते हैं बड़े खेलों के समय अल्कोहल इस्तेमाल करने से बचकर ऐसे मामलों में कमी लाई जा सकती है।

खेल खत्म होने के बाद शुरुआती चार घंटे में हिंसा बढ़ जाती है

ग्रेटर मैनचेस्टर पुलिस बताती है कि शराब न पीने वाले लोगों के घरों में हिंसा में बढ़ोतरी नहीं देखी गई है। मैच खत्म होने के शुरुआती चार घंटों में हिंसा बढ़ती है। 10 से 12 घंटे के बीच यह उच्चतम होती है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, मैच दोपहर 3 बजे शुरू होता है, तो पुलिस और हेल्पलाइन के पास शाम 7 बजे तक कॉल आने लगते हैं। सबसे व्यस्त समय तड़के 1 से 3 बजे के बीच होता है।

खबरें और भी हैं...