• Hindi News
  • International
  • President Donald Trump On India Over India US Relations; Says US has a 'very good' relationship with India

कूटनीति / ट्रम्प ने कहा- भारत और अमेरिका के बीच बहुत कुछ हो रहा है, जल्द ही वहां जाऊंगा



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प।
X
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प।

  • अमेरिकी डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं, आपने मुझे ह्यूस्टन में देखा
  • प्रधानमंत्री मोदी ने हाउडी मोदी कार्यक्रम में राष्ट्रपति ट्रम्प को भारत आने का निमंत्रण दिया था

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2019, 07:25 PM IST

वॉशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को कहा कि अमेरिका और भारत के संबंध बेहतर हैं। दोनों देशों के बीच बहुत कुछ हो रहा है। ट्रम्प ने कहा, “हम भारत के साथ विभिन्न मुद्दों पर बातचीत कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं। आपने मुझे ह्यूस्टन में देखा। वह काफी बढ़िया था। हमारे पास कई सूची हैं, जिस पर हम भारत के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। हम जल्द ही भारत की यात्रा करेंगे।”

 

दोनों देशों के अधिकारियों ने कहा कि साल के अंत तक समझौते पर बात पूरी होने की उम्मीद है। मोदी ने सितंबर में मोदी के साथ बैठक के दौरान कहा था कि दोनों देश व्यापार समझौते पर काम कर रहे हैं। यह दोनों देशों के सपनों के लिए महत्वपूर्ण साबित होगा। सितंबर में प्रधानमंत्री मोदी ने ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम में राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ मंच साझा किया था, जिसमें करीब 50 हजार भारतीय-अमेरिकी नागरिक मौजूद थे।

 

मोदी ने इस बीच ट्रम्प को सपरिवार भारत यात्रा के लिए आमंत्रित किया था। हालांकि दोनों देशों के बीच व्यापार को लेकर तनावपूर्ण हालात बने हुए हैं। इसी साल जून में अमेरिका ने भारत को जेनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रीफरेंसेस (जीएसपी) की सुविधा से बाहर कर दिया था। 

 

2017 में भारत को 40,000 करोड़ रु. के सामान पर शुल्क में छूट मिली थी
जीएसपी कार्यक्रम में शामिल विकासशील देशों को अमेरिका में आयात शुल्क से छूट मिलती है। इसके तहत भारत करीब 2000 उत्पाद अमेरिका भेजता है। इन उत्पादों पर अमेरिका में इंपोर्ट ड्यूटी नहीं लगती। भारत 2017 में जीएसपी कार्यक्रम का सबसे बड़ा लाभार्थी देश था। उसे अमेरिका में 5.7 अरब डॉलर (40,000 करोड़ रुपए) के आयात पर शुल्क में छूट मिली थी।

 

अमेरिका ने भारत को जीएसपी से क्यों हटाया?
ट्रम्प का कहना था कि उन्हें भारत से यह भरोसा नहीं मिल पाया है कि वह अपने बाजार में अमेरिकी उत्पादों को बराबर की छूट देगा। अमेरिका का कहना है कि भारत में पाबंदियों की वजह से उसे व्यापारिक नुकसान हो रहा है। वह जीएसपी के मापदंड पूरे करने में नाकाम रहा है। अमेरिका ने पिछले साल अप्रैल में जीएसपी के लिए तय शर्तों की समीक्षा शुरू की थी। 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना