यूएस / फेसबुक ने कट्टरवाद और नफरत फैलाने वाले अकाउंट बंद किए, ट्रम्प ने बताया पक्षपाती फैसला



Donald Trump takes on facebook for banning account of certain personalities
X
Donald Trump takes on facebook for banning account of certain personalities

  • फेसबुक ने कहा है कि नियमों के तहत नफरत फैलाने वाले पोस्ट पर कंपनी ऐसी कार्रवाई करती रहती है
  • ट्रम्प इससे पहले ट्विटर के सीईओ जैक डोरसी पर भी विपक्षी पार्टी की तरफ झुकाव का आरोप लगा चुके हैं

Dainik Bhaskar

May 05, 2019, 04:22 PM IST

स्टर्लिंग. फेसबुक ने हाल ही में अपने प्लेटफॉर्म पर कट्टरवाद और नफरत फैलाने के आरोप पर कई नामी लोगों के अकाउंट बंद कर दिए। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इसे भेदभावपूर्ण व्यवहार बताते हुए सोशल मीडिया कंपनियों का धमकी दी है। शुक्रवार को ट्वीट में ट्रम्प ने कहा कि वह इन चीजों को करीब से देख रहे हैं और जल्द ही अमेरिकी नागरिकों पर लगने वाली सेंसरशिप पर नजर रखेंगे।

 

ट्रम्प ने शुक्रवार और शनिवार को लगातार ट्वीट कर इस मुद्दे को उठाया। दरअसल, फेसबुक ने इस हफ्ते कई जाने-माने कलाकारों के अकाउंट बंद कर दिए थे। इनमें लुईस फराखान, एलेक्स जोन्स शामिल हैं। इसके अलावा कुछ दक्षिणपंथी लोगों के अकाउंट भी बंद किए गए। इनमें पॉल नेहलेन, माइलो इयानोपुलस, पॉल वाॅटसन और लौरा लूमर शामिल थे।

 

ट्रम्प ने कहा कि सोशल मीडिया अब कंजर्वेटिव नेताओं के लिए काफी खराब होता जा रहा है, वुड्स जो कि खुलकर अपनी बातें रखते हैं उनका अकाउंट ट्विटर ने भी बंद कर दिया। हालांकि, ट्विटर का कहना है कि वुड्स जब तक अपना आपत्तिजनक ट्वीट नहीं हटाते तब तक नियमों के मुताबिक, हम उनके अकाउंट से बैन नहीं हटा सकते। 

 

नफरत फैलाने वालों को बैन करते रहे हैं: फेसबुक
फेसबुक के बैन के बाद इन लोगों के पेजों के साथ इंस्टाग्राम अकाउंट भी डिलीट कर दिए। इस पर ट्रम्प समेत कुछ और लोगों ने भी विरोध जताया। हालांकि, फेसबुक का कहना है कि कंपनी हमेशा ही ऐसे लोगों को बैन करती है जो हिंसात्मक या नफरत फैलाने वाली सामग्री पोस्ट करते हैं। 

 

ट्विटर को भी लगा चुके हैं लताड़
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ट्विटर पर अपने दो लाख फॉलोअर्स कम हो जाने से खफा हैं। इस पर हाल ही में उन्होंने कंपनी के सीईओ जैक डोर्स को व्हाइट हाउस में बुलाकर सवाल-जवाब किए थे। ट्रम्प इससे पहले कई बार आरोप लगा चुके हैं कि ट्विटर का झुकाव डेमोक्रेट की तरफ ज्यादा है। इससे पहले बीते साल अक्टूबर में भी अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्विटर पर आरोप लगाया था कि उनके बहुत  से फालोअर्स को कंपनी जानबूझकर हटा रही है। उनका कहना था कि कुछ सप्ताह पहले तक ट्विटर रॉकेट शिप (तेज) था और अब यह ब्लिम्प (मोटा) है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना