ट्रम्प की फेसबुक-इंस्टाग्राम पर वापसी होगी:कंपनी ने अमेरिकी संसद हिंसा के बाद अकाउंट ब्लॉक कर दिया था

13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सोशल मीडिया कंपनी मेटा ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट बहाल करने की घोषणा की है। कंपनी ने 6 जनवरी 2021 को अमेरिकी संसद में हुई हिंसा के बाद ट्रम्प का अकाउंट ब्लॉक कर दिया था। 2 साल बाद इस बैन को हटाया जा रहा है। इसके पहले 19 नवंबर 2022 को उनका ट्विटर अकाउंट बहाल कर दिया गया था।

मेटा ग्लोबल अफेयर्स के प्रेसिडेंट निक क्लेग ने इस फैसले की जानकारी देते हुए कहा- आने वाले कुछ हफ्तों में अमेरिका के पूर्व प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प का अकाउंट नए नियमों के साथ बहाल किया जाएगा, जिससे दोबारा उनके पोस्ट से हिंसा न भड़के। उनका अकाउंट हमारे कम्युनिटी स्टैंडर्ड के अधीन है। अगर वो फिर से हिंसा भड़काने वाले पोस्ट करते हैं तो पोस्ट को इन प्लेटफॉर्म से हटा दिया जाएगा। साथ ही उनके अकाउंट पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा।

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने मेटा से अपना फेसबुक अकाउंट रिस्टोर करने को कहा था।
कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने मेटा से अपना फेसबुक अकाउंट रिस्टोर करने को कहा था।

कैपिटल हिंसा में 5 लोगों की मौत हुई थी
6 जनवरी 2021 को अमेरिकी संसद में राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों पर मुहर लगाए जाने के दौरान सैकड़ों ट्रम्प समर्थकों ने यहां हिंसा की थी। इसमें एक पुलिस अफसर समेत पांच लोगों की मौत हो गई थी। ट्रम्प पर समर्थकों को उकसाने का आरोप लगा था। इसके बाद उनके सोशल मीडिया अकाउंट सस्पेंड कर दिए गए थे।

फेसबुक ने कहा था- ट्रम्प के वीडियो से हिंसा भड़कने का खतरा
कैपिटल हिल में हिंसा के बाद ट्रम्प ने सोशल मीडिया पर 1 मिनट का वीडियो पोस्ट किया था। फेसबुक और यूट्यूब ने ट्रम्प का वीडियो रिमूव कर दिया था। फेसबुक के वाइस प्रेसिडेंट (इंटेग्रिटी) गुए रोजेन ने कहा था कि यह इमरजेंसी है, ट्रम्प के वीडियो से हिंसा और भड़क सकती है।

हालांकि फिलहाल ट्रम्प ने फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अपनी वापसी को लेकर कोई बयान नहीं दिया है, लेकिन कहना है कि फेसबुक पर उनके न होने से कंपनी को अरबों डॉलर का नुकसान हुआ है।
हालांकि फिलहाल ट्रम्प ने फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अपनी वापसी को लेकर कोई बयान नहीं दिया है, लेकिन कहना है कि फेसबुक पर उनके न होने से कंपनी को अरबों डॉलर का नुकसान हुआ है।

ट्रम्प ने फेसबुक के कदम को वोटर्स की बेइज्जती बताया था
ट्रम्प ने फेसबुक की कार्रवाई को उन 7.5 करोड़ लोगों की बेइज्जती बताया था, जिन्होंने 2020 के चुनाव में ट्रम्प को वोट दिया था। ट्रम्प ने कहा था- उन लोगों को सेंसर कर और चुप कराकर बाहर नहीं किया जा सकता। हम फिर जीतेंगे। हमारा देश इस बेइज्जती को और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर सकता।

खबरें और भी हैं...