• Hindi News
  • International
  • Donald Trump | Former US President Donald Trump Will Fight Next President Election And Pardon Capitol Hill Rioters

ट्रम्प फिर रेस में:पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति फिर चुनाव लड़ने के मूड में, कहा- दोबारा प्रेसिडेंट बना तो संसद हमले के आरोपियों को माफी दे सकता हूं

न्यूयॉर्क8 महीने पहले

आखिरकार डोनाल्ड ट्रम्प ने साफ कर दिया है कि वो 2024 में होने वाले यूएस प्रेसिडेंट इलेक्शन में उतरने का मन बना रहे हैं। इसके लिए उन्होंने तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। श्वेत अमेरिकियों में ट्रम्प और रिपब्लिन पार्टी की गहरी पैठ मानी जाती है। ट्रम्प ने रविवार को कहा- अगर में दोबारा राष्ट्रपति चुना जाता है तो 6 जनवरी 2021 को संसद पर हमला करने वाले आरोपियों को माफी देने पर विचार करूंगा।

ट्रम्प पिछली बार वर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से हार गए थे। ट्रम्प अब तक यह आरोप लगाते हैं कि पिछले राष्ट्रपति चुनाव में जमकर धांधली हुई थी और जनता का फैसला डेमोक्रेटिक पार्टी ने चोरी कर लिया था। हालांकि, अदालतों ने ट्रम्प के तमाम केस और इनमें किए गए दावे नकार दिए थे।

टेक्सॉस रैली के दौरान पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक।
टेक्सॉस रैली के दौरान पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक।

समर्थकों को भड़काया
टेक्सॉस में एक रैली को संबोधित करते हुए ट्रम्प ने एक बार फिर अपने समर्थकों को भड़काया। कहा- अगर अटलांटा और न्यूयॉर्क के अधिकारी मेरे खिलाफ किसी तरह का एक्शन लेते हैं तो आप लोग इसके विरोध में उतरें और प्रदर्शन करें। अगर मैं अगली बार फिर प्रेसिडेंट इलेक्शन लड़ता और जीतता हूं तो मैं वादा करता हूं कि 6 जनवरी के दंगों के आरोपियों को माफी देने पर विचार करूंगा। मैं उनको इंसाफ दिलाउंगा, क्योंकि उनके साथ भेदभाव किया जा रहा है।

6 जनवरी 2021 को प्रेसिडेंट इलेक्शन के नतीजों पर अमेरिकी संसद ने मुहर लगा दी थी। इसके बाद ट्रम्प समर्थकों ने एक तरह से संसद पर ही हमला बोल दिया था। एक पुलिस अफसर समेत पांच लोग मारे गए थे। 700 लोगों को गिरफ्तार किया गया। 11 पर देशद्रोह का आरोप लगा।

ट्रम्प का कहना है कि वो 2024 में होने वाला राष्ट्रपति चुनाव लड़ सकते हैं।
ट्रम्प का कहना है कि वो 2024 में होने वाला राष्ट्रपति चुनाव लड़ सकते हैं।

फंस सकते हैं ट्रम्प
न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, न्यूयॉर्क के अटॉर्नी जनरल ट्रम्प और उनकी प्रॉपर्टीज की जांच कर रहे हैं। माना जा रहा है कि ट्रम्प परिवार ने इनमें काफी धांधली की थी। यही वजह है कि ट्रम्प को कानूनी कार्रवाई का डर सता रहा है। इसके लिए वो दबाव की सियासत का सहारा लेने की कोशिश कर रहे हैं। रविवार को भी उन्होंने अपने समर्थकों से यही कहा कि अगर उनके खिलाफ कोई लीगल एक्शन होता है तो समर्थक सड़कों पर उतरें और विरोध प्रदर्शन करें। जांच करने वाले लोग किसी के इशारे पर काम कर रहे हैं और ये करप्ट हैं। अगर ये मेरे खिलाफ एक्शन लेते हैं तो हम ऐसा विरोध प्रदर्शन करेंगे जो इससे पहले कभी नहीं हुआ होगा।

बाइडेन पर बढ़ेगा दबाव
बाइडेन एडमिनिस्ट्रेशन अमेरिका के कई राज्यों में रिपब्लिकन समर्थकों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। न्यूजर्सी और वॉशिंगटन स्टेट में तो खासतौर पर उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। कई दिनों की चुप्पी के बाद अब ट्रम्प ने जवाब दिया है। खास बात यह है कि रविवार का प्रदर्शन एक तरह से बाइडेन पर सियासी दबाव बनाने की कोशिश था। विदेश नीति के मुद्दे पर बाइडेन के खिलाफ घरेलू मीडिया भी सवाल उठा रहा है। कहा जा रहा है कि वो चीन के खतरे को कम करके आंक रहे हैं। रविवार की रैली में ट्रम्प के समर्थकों ने जो टी-शर्ट्स पहनीं थीं उन पर ट्रम्प 2024 लिखा था। ट्रम्प ने कहा- भ्रष्ट मीडिया हमारे देश को तबाह करने पर तुला हुआ है।

खबरें और भी हैं...