• Hindi News
  • International
  • Donald Trump China | Donald Trump's Warning On China Taiwan War Amid Russia Ukraine Conflict

रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच ट्रंप का दावा:पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बोले- चीन सब देख रहा, यूक्रेन के बाद अगला नंबर ताइवान का

वाशिंगटन7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया है कि यूक्रेन के बाद ताइवान पर हमला हो सकता है। बुधवार को फॉक्स न्यूज के साथ एक इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा कि यूरोप में जैसे हालात हैं, इससे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग खुश दिख रहे हैं, क्योंकि ताइवान पर उनके हमले का रास्ता खुल गया है।

ट्रंप की यह धारणा यूक्रेन पर हुए हमले में बाइडेन प्रशासन की प्रतिक्रिया पर आधारित है। उन्होंने कहा कि चीन देख रहा है कि अमेरिका कितना बेवकूफ है। वह देख रहा है कि हमारे नेता अक्षम हैं। उन्हें पता है कि यह अब उनका समय है। ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने यूक्रेन के लिए कुछ नहीं किया।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति शी हाई इंटेलिजेंस लेवल का व्यक्ति है। उसने देख लिया है कि अफगानिस्तान में क्या हुआ, कि किस तरह हमने अफगानिस्तान को छोड़ दिया। वह देख रहा है कि हमने अमेरिकी नागरिकों को भी वहां छोड़ दिया, जो अभी भी बाहर निकलने की कोशिश कर रहे हैं। अब चीन के राष्ट्रपति के पास अवसर है, जिसे वह गंवाना नहीं चाहता।

बाइडेन ने शुरुआत में ढील दी
ट्रंप ने यूक्रेन संकट से निपटने के लिए राष्ट्रपति जो बाइडेन के रवैये पर भी कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि बाइडेन ने शुरुआत में ऐसे कमजोर बयान दिए कि पुतिन ने कहा, 'अरे वाह, यह यूक्रेन में मेरे जाने का समय है।'

ताइवान की राष्ट्रपति बोलीं- हमारे लोगों को डर सता रहा है।
ताइवान की राष्ट्रपति बोलीं- हमारे लोगों को डर सता रहा है।

ताइवानी नेता ने जताई चिंता
उधर, ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन ने रूस-यूक्रेन के बीच हो रहे युद्ध पर पूर्व अमेरिकी सुरक्षा अधिकारियों के प्रतिनिधिमंडल की बैठक में चिंता व्यक्त की है। उन्होंने बताया कि उनके द्वीप पर यूक्रेन जैसा खतरा मंडरा रहा है। उन्होंने बैठक में कहा कि इतिहास हमें सिखाता है कि अगर हम सैन्य आक्रमण से आंखें मूंद लेते हैं, तो हम केवल अपने लिए खतरा बढ़ा रहे हैं।

संयुक्त चीफ ऑफ स्टाफ के पूर्व अध्यक्ष और सेवानिवृत्त एडमिरल माइकल मुलेन के नेतृत्व में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को ताइवान पहुंचा। इस दौरान वाशिंगटन और बीजिंग के बीच बढ़ते तनाव के साथ-साथ यूक्रेन पर रूस के आक्रमण से उत्पन्न संकट को लेकर चर्चा की गई।

सोंगशान एयरपोर्ट पर ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के पूर्व अध्यक्ष माइकल मुलेन का स्वागत किया।
सोंगशान एयरपोर्ट पर ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के पूर्व अध्यक्ष माइकल मुलेन का स्वागत किया।

लोकतंत्र की लड़ाई के मोर्चे पर खड़ा ताइवान
इस दौरान इंग-वेन ने कहा कि यूक्रेनी लोगों की अपनी स्वतंत्रता और लोकतंत्र की रक्षा करने की प्रतिबद्धता और अपने देश की रक्षा के लिए उनके निडर समर्पण को ताइवान के लोगों की सहानुभूति है, क्योंकि हम भी लोकतंत्र की लड़ाई के मोर्चे पर खड़े हैं। ताइवान पर भी खतरा बढ़ रहा है।

खबरें और भी हैं...