• Hindi News
  • International
  • Dragon Issued Strict Guidelines For Fear Of Community Transmission Amid New Year, People Opposed Restrictions

चीन को कोरोना कम्यूनिटी ट्रांसमिशन का डर:नए साल के बीच ड्रैगन ने सख्त गाइडलाइन जारी की, पाबंदियों का लोगों ने किया विरोध

बीजिंग2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजधानी बीजिंग के एक पर्यटन स्थल को पारंपरिक लाल लालटेन से सजाता एक व्यक्ति। यहां पर्यटकों का आना आम दिनों से भी कम है। - Dainik Bhaskar
राजधानी बीजिंग के एक पर्यटन स्थल को पारंपरिक लाल लालटेन से सजाता एक व्यक्ति। यहां पर्यटकों का आना आम दिनों से भी कम है।

दुनियाभर में कोरोना महामारी फैलाने वाला चीन अब खुद इस संक्रमण से डरने लगा है। दरअसल, चीन में 12 फरवरी से 'लूनर न्यू इयर' शुरू हो रहा है। इस दौरान चीन में सरकारी छुट्‌टी रहती है। करोड़ों लोग नया साल मनाने के लिए ट्रैवल करेंगे। ऐसे में सरकार को कोरोना संक्रमण के कम्यूनिटी ट्रांसमिशन का डर सताने लगा है। अब चीनी प्रशासन ने इसे रोकने के लिए कड़ी गाइडलाइन जारी की है, जिसका विरोध शुरू हो गया है।

चीन में नए साल के दौरान करोड़ों लोग अपने गांव या बाहर घूमने निकलते हैं। इस दौरान बस, ट्रेन और एयरपोर्ट पर पैर रखने तक की जगह नहीं होती। सड़कों पर भी वाहनों की लाइन लगी रहती है। चीन के उत्तर-पूर्वी प्रांत में एक ही दिन में 2000 कोरोना के नए केस ने सरकार के माथे पर चिंता की लकीर खींच दी है।

चीनी हेल्थ कमिशन की गाइडलाइन में ये सब
जो लोग गांव से लौटेंगे, उन्हें 7 दिन पहले का Covid-19 ‍निगेटिव टेस्ट दिखाना होगा। साथ ही 14 दिन होम क्वारैंटाइन में रहना होगा।
जो लोग बाहर से आएंगे, उन्हें 14 दिन सरकार द्वारा तय किए गए क्वारैंटाइन होटल में बिताना होगा। वे अपने घर नहीं जा सकेंगे।

स्वाॅब के अलावा मल के सैंपल टेस्ट को लेकर चिंता
नए साल के सेलिब्रेशन के लिए जो लोग बाहर जाना चाहते हैं, उन्हें सरकार से अनुमति लेनी होगी। इसके साथ ही उन्हें कोरोना बचाव के लिए जारी सरकारी गाइडलाइन का भी सख्ती से पालन करना होगा। लोगों की सबसे बड़ी चिंता मल के सैंपल जांच को लेकर है। गले और नाक के स्वॉब टेस्ट के अलावा चीन में मल टेस्ट भी किया जा रहा है। ऐसे में लोग इससे बचने के लिए न्यू इयर प्लान कैंसिल कर रहे हैं।

2020 में नए साल के दौरान शंघाई रेलवे स्टेशन पर लोगों का हुजूम उमड़ा हुआ था।
2020 में नए साल के दौरान शंघाई रेलवे स्टेशन पर लोगों का हुजूम उमड़ा हुआ था।

इस बार रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट खाली-खाली
सरकार की सख्त गाइडलाइन के बाद लोगों ने अपने ट्रैवलिंग प्लान कैंसल कर दिए हैं। पिछले साल नए साल में भीड़ से भरे बस, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट पर इस बार लोग नहीं दिख रहे हैं। सब जगह सन्नाटा पसरा हुआ है।

यह तस्वीर बीजिंग रेलवे स्टेशन की है। यहां आम दिनों से भी कम लाेग नजर आ रहे हैं।
यह तस्वीर बीजिंग रेलवे स्टेशन की है। यहां आम दिनों से भी कम लाेग नजर आ रहे हैं।

लोगों ने पूछा- आपका दिमाग किस चीज से बना है
सरकारी गाइडलाइन का चीन की सोशल मीडिया पर विरोध भी शुरू हो गया है। एक व्यक्ति ने Weibo पर पोस्ट करते हुए लिखा, "क्या विशाल ग्रामीण क्षेत्रों में मेडिकल फैसिलिटी हर किसी को हर 7 दिनों में कोरोना वायरस टेस्ट की अनुमति देती है? क्या टेस्ट के लिए एकत्र होने से संक्रमण का बड़ा खतरा नहीं है? इसके अलावा, राज्य केवल हमें 7 दिन की छुट्‌टी देते हैं और अब आप 14 दिनों के लिए होम क्वारैंटाइन करेंगे। आपका दिमाग किस चीज से बना है?"