• Hindi News
  • International
  • Drought Reduced Yield, Taliban Stalled Exports; Farmers Growing Opium Desolate Pomegranate Orchards Forcing

द न्यूयॉर्क टाइम्स से विशेष अनुबंध के तहत:सूखे से उपज घटी, तालिबान के चलते निर्यात ठप; मजबूरन अनार के बाग उजाड़ अफीम उगा रहे किसान

अर्गनदाब2 महीने पहलेलेखक: थॉमस गिब्सन नेफ/तैमूर शाह
  • कॉपी लिंक
अर्गनदाब में किसान अनार और अन्य फलों की खेती छोड़कर अफीम की खेती की तरफ रुख कर रहे हैं। - Dainik Bhaskar
अर्गनदाब में किसान अनार और अन्य फलों की खेती छोड़कर अफीम की खेती की तरफ रुख कर रहे हैं।

फलों और सूखे मेवे के लिए प्रख्यात अफगानिस्तान के कंधार प्रांत की यह पहचान खोने का संकट मंडरा रहा है। वजह- राज्य में सूखे के हालात और जलाशयों में पानी न बचने से किसान अनार और अन्य फलों की खेती छोड़कर अफीम की खेती की तरफ रुख कर रहे हैं। अब तक अनार उगाते आए अब्दुल हामिद बताते हैं कि नदियों में पानी नहीं है, जमीन सूख चुकी है। ऐसे में फलों में फायदा नहीं बचा है। ऊपर से तालिबान के साथ लंबे चले संघर्ष ने देश से बाहर फल नहीं जाने दिए। कुल मिलाकर हर तरफ से बर्बादी हमारे हिस्से आई। ऐसे में हमने नई खेती में हाथ आजमाने के लिए कदम बढ़ा दिया है।

अर्गनबाद जिले के निवासी हामिद अब तक अपने अनार के बाग के 800 से ज्यादा पेड़ काट चुके हैं। ऐसा करके उन्होंने पुश्तैनी फलों की खेती को मिट्टी के कब्रिस्तान में बदल दिया है। हामिद, 80, ने कहा, ‘सूखे से अनुमान से ज्यादा परेशानियां बढ़ा दी हैं। बारिश की कमी और घटते कुएं के पानी ने साल भर पेड़ों की सिंचाई करना लगभग असंभव बना दिया था। बाग के बहुत से पेड़ तो पानी की कमी से सूखकर मर चुके हैं।

तालिबान से लड़ाई के चलते बीते एक साल से सरकारी मदद भी नहीं मिली। भयंकर सूखे, वित्तीय कठिनाइयों और युद्ध के कारण अंत में अप्रत्याशित रूप से देश की सीमा बंद होने ने उन्हें इस क्षेत्र के सबसे विश्वसनीय आर्थिक इंजन अफीम पोस्त उगाने में फायदा दिख रहा है। हामिद की तरह हजारों की संख्या में किसान दूसरी आय जुटाने के लिए अपने बाग अपने हाथों उजाड़ने को मजबूर हैं और अफीम की तरफ जा रहे हैं।

भारत, पाकिस्तान और खाड़ी देशों में जाते हैं कंधार के फल और सूखे मेवे

अनार उत्पादक मोहम्मद उमर ने बताया कि हमारे यहां का अनार भारत, पाकिस्तान, खाड़ी देशों में जाता था। सड़क सीमाएं और हवाई सेवा बंद होने से होने से निर्यातक अनार खरीद ही नहीं रहे। मेवों का भी यही हाल है। यह देश से बाहर नहीं जा रहे।

अफगानिस्तान में दुनिया की 80% अफीम उग रही, 5वें साल बढ़ा उत्पादन

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक दुनिया की 80% से ज्यादा अफीम अफगानिस्तान में उगती है। तालिबान के सत्ता में कब्जे के बाद इसकी पैदावार बढ़ी है। लगातार 5वें साल वहां उत्पादन बढ़कर 6800 टन पार हो गया है। इस साल 8% की ग्रोथ रही।

खबरें और भी हैं...