• Hindi News
  • International
  • Eagerly For Cars In America Such That Full Payment Before Reaching The Lot, Even If The Preferred Model Is Not There, People Are Ready

द न्यूयॉर्क टाइम्स से विशेष अनुबंध के तहत:अमेरिका में कारों के लिए बेसब्री ऐसी कि लॉट पहुंचने से पहले पूरा पेमेंट, पसंदीदा मॉडल न हो तो भी लोग तैयार

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दाम में छूट की बजाय महंगी हो गईं कारें, फिर भी वाहन खरीदने की दीवानगी। - Dainik Bhaskar
दाम में छूट की बजाय महंगी हो गईं कारें, फिर भी वाहन खरीदने की दीवानगी।

अगले दो से तीन हफ्ते में कोलंबस स्थित हमारी डीलरशिप पर 40 एसयूवी की लॉट पहुंचने वाली है, पर यह कुछ ही घंटों की बात होगी। क्योंकि ज्यादातर गाड़ियां बुक हो चुकी हैं, या लोगों ने पूरा पेमेंट कर दिया है। कार डीलर रिक रिकार्ट बताते हैं, ‘बाजार में दीवानगी सी है।’ रिकार्ट का परिवार बरसों से इस कारोबार से जुड़ा है। वे बताते हैं पूरे अमेरिका में यही स्थिति है।

शिकागो में कार डीलरशिप के मालिक मार्क स्कारपेली कहते हैं ऐसी बेसब्री पहले कभी नहीं देखी। उनके स्टॉक में 500-600 कारें रहती हैं। पर इन दिनों बमुश्किल 50 बची हैं। लॉट उतरने के साथ ही कारें गायब हो जा रही हैं। नई ही नहीं यूज्ड कारों की डिमांड भी जबर्दस्त है। हालात ये हैं कि डीलर पुराने ग्राहकों को फोन और ई-मेल के जरिए साल, दो साल पहले बेची गई कारों को खरीदने की पेशकश कर रहे हैं।

सालभर में यूज्ड कार के दाम 45% बढ़ गए
अमेरिकी सरकार द्वारा इसी हफ्ते जारी डेटा के मुताबिक सालभर में यूज्ड कारों के दाम 45% बढ़ गए हैं। नई कारों, एसयूवी और पिकअप की कीमतें भी 5% तक बढ़ी हैं, पर लोगों को फर्क नहीं पड़ रहा। एक्सपर्ट्स के मुताबिक आर्थिक सुधार, ब्याज दरें कम होना, महामारी के दौरान बचत और प्रोत्साहन पैकेज बड़े कारण हैं।

बेरोजगारी दर ज्यादा है, फिर भी लोगों के पास पैसा बचा है। कर्ज आसानी से मिल रहा है। इसलिए लोग हिचक नहीं रहे। ऑटोमोटिव कंसल्टेंट एलन हैग के मुताबिक मजबूत डिमांड से डीलरों का मुनाफा जबर्दस्त बढ़ा है। छूट वाले दिन बीत गए, अब तो निर्माता द्वारा तय दाम पर भी डीलर मनमाफिक चार्ज जोड़कर कमाई कर रहे हैं।

रिपेयर शॉप के टाइमिंग बढ़े
यूज्ड कारों की मांग में बढ़ोतरी के चलते रिपेयर शॉप पर वर्करों को 10-12 घंटे काम करना पड़ रहा है। तीन-चार दिनों तक वे घर नहीं जा पा रहे। ताकि समय पर डिलीवरी दी जा सके। हालांकि उन्हें आराम के लिए एकसाथ दो-तीन ऑफ दिए जा रहे हैं।

लोग कैश देकर 95 लाख तक की लग्जरी, स्पोर्ट्स कारें खरीद रहे
कार डीलरों के मुताबिक 75 लाख से ज्यादा कीमत वाली वे लग्जरी और स्पोर्ट्स कारें भी मिनटों में बिक गई हैं, जिनकी बहुत कम पूछताछ होती थी। अभिभावक किशोरों के लिए ये कारें खरीद रहे हैं। रिकार्ट बताते हैं कि उनकी एक हाईएंड डीलरशिप पर अब तक का सबसे महंगा 95 लाख का शेल्बी पिकअप वाहन था।

उन्हें लगता था कि इसे कौन खरीदेगा। पर एक ही दिन बाद वह बिक गया। और ग्राहक ने इसके लिए नकद भुगतान किया। इंडस्ट्री से जुड़े लोग बताते हैं कि लोगों के पास बहुत सारा नकद रखा है। इसलिए पसंदीदा मॉडल न मिलने पर भी ज्यादा कीमत देकर कारें खरीद रहे हैं।

खबरें और भी हैं...