• Hindi News
  • International
  • Emaar Group To Build Mall In Jammu And Kashmir In 5 Lakh Sq Ft Partnership With Dubai Growing For Investment In Jammu And Kashmir, 7500 Crores In Several Projects. Will Invest

एम्मार ग्रुप जम्मू-कश्मीर में 5 लाख वर्गफीट में बनाएगा मॉल:जम्मू-कश्मीर में निवेश के लिए दुबई के साथ साझेदारी बढ़ रही, कई प्रोजेक्ट में 7500 करोड़ रु. निवेश करेगा

5 महीने पहलेलेखक: दुबई से भास्कर के लिए शानीर सिद्धीकी
  • कॉपी लिंक
रिटेल चेन लुलु समूह ने जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा की मौजूदगी में बुधवार को दुबई में एमओयू किया। - Dainik Bhaskar
रिटेल चेन लुलु समूह ने जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा की मौजूदगी में बुधवार को दुबई में एमओयू किया।

दुबई का सबसे बड़ा रियल एस्टेट डेवलपर एम्मार समूह श्रीनगर में एक शॉपिंग मॉल विकसित करेगा। इसको लेकर दुबई और केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर प्रशासन के बीच हुए समझौता हाे चुका है। समझौते के तहत यह मॉल पांच लाख वर्ग फीट में होगा। यह जम्मू और कश्मीर में पहला महत्वपूर्ण विदेशी निवेश होगा। एम्मार के संस्थापक मोहम्मद अलअब्बार ने बताया, हम जम्मू और कश्मीर के निवासियों और पर्यटकों की आमद के लिए एक विश्व स्तरीय मॉल देना चाहते हैं।

इससे पर्यटन में तेजी आने की संभावना है। एम्मार जम्मू और श्रीनगर में अचल संपत्ति का हॉस्पिटैलिटी, आवासीय के साथ वाणिज्यिक रूप से मिश्रित उपयोग की परियोजनाओं में निवेशों पर भी विचार कर रहा है। बता दें यूएई और भारत व्यापक रणनीतिक साझेदार हैं। दुबई ने हाल ही में जम्मू और कश्मीर में बुनियादी ढांचे के निवेश बढ़ाने के लिए एक समझौता किया था।

इसमें दुबई को कश्मीर में 7500 करोड़ रुपए की परियोजनाओं में निवेश करना है। इनमें औद्योगिक पार्क, मेडिकल कॉलेज, अस्पताल, आईटी टावर व बहुउद्देश्यीय टावर शामिल हैं। एम्मार के अलावा, डीपी वर्ल्ड जैसे शीर्ष ब्रांड भी जम्मू-कश्मीर में निवेश कर रहे हैं। रिटेल चेन लुलु समूह ने जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा की मौजूदगी में बुधवार को दुबई में एमओयू किया। इसके तहत वह पहले चरण में 200 करोड़ रुपए निवेश करेगा।

उपराज्यपाल ने लुलु स्टोर्स में किया जीआई टैग केसर लॉन्च
उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा, जीआई-टैग केसर को लुलु हाइपरमार्केट में लॉन्च किया गया है, जिसे मैं जम्मू-कश्मीर और दुबई साझेदारी को बढ़ावा देने की दिशा में मील का पत्थर के रूप में देखता हूं। समूह पहले से ही जम्मू-कश्मीर से सेब आयात कर रहा है।

खबरें और भी हैं...