• Hindi News
  • International
  • Ex Pak envoys say violence is legal if people fight for right in jammu kashmir updates article 370

पाकिस्तान / पूर्व राजनयिक बोले- अगर कोई अपने अधिकारों के लिए हथियार उठाता है तो इसमें कुछ गलत नहीं

फाइल फोटो। फाइल फोटो।
अब्दुल बासित 2014 में भारत में पाक के उच्चायुक्त भी रहे हैं। अब्दुल बासित 2014 में भारत में पाक के उच्चायुक्त भी रहे हैं।
X
फाइल फोटो।फाइल फोटो।
अब्दुल बासित 2014 में भारत में पाक के उच्चायुक्त भी रहे हैं।अब्दुल बासित 2014 में भारत में पाक के उच्चायुक्त भी रहे हैं।

  • पाक के तीन पूर्व राजनयिकों अशरफ जहांगीर काजी, अब्दुल बासित और शाहिद मलिक ने टीवी डिबेट में अपने विचार रखे
  • बासित ने कहा- यदि कोई अपने अधिकारों के लिए लड़ रहा है और कोई देश उसकी मदद करे, तो यह अवैध नहीं

दैनिक भास्कर

Aug 20, 2019, 09:04 AM IST

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के तीन पूर्व राजनयिकों ने जम्मू-कश्मीर में हिंसा को बढ़ावा देने संबंधी बयान दिए हैं। अनुच्छेद 370 खत्म करने के मामले पर चर्चा कर रहे राजनयिकों ने कहा कि अगर कोई अपने अधिकारों के लिए हथियार उठाता है, तो इसमें कुछ गलत नहीं है। राजनयिक अशरफ जहांगीर काजी, अब्दुल बासित और शाहिद मलिक ने सोमवार को एक टीवी डिबेट में यह बात कही। बासित 2014 में भारत में पाक के उच्चायुक्त भी रहे हैं।

‘आजादी के लिए हथियार उठाना गलत नहीं’

अब्दुल बासित ने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक, अगर कोई अपने अधिकारों के लिए लड़ रहा है और कोई देश उसकी मदद करे, तो यह अवैध नहीं माना जाएगा।’’ वहीं, अशरफ जहांगीर काजी ने कहा, ‘‘यदि आप अपने अधिकारों और आजादी के लिए हथियार उठाते हैं, अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक यह भी वैध ही है।’’

भारत सरकार ने 5 अगस्त को संसद में प्रस्ताव पास कर जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म कर दिया। इसके बाद से ही पाकिस्तान सरकार अन्य देशों से फोन पर बात कर भारत के खिलाफ एक होने की अपील कर रहा है, लेकिन हर जगह से उसे नाकामी ही मिल रही है।

हालांकि, जम्मू-कश्मीर में शांति का माहौल है। राज्य में किसी भी स्थान से कोई हिंसा की घटना सामने नहीं आई है। यहां ज्यादातर इलाकों में 190 से ज्यादा स्कूल खोल दिए गए हैं। फोन सेवा भी शुरू कर दी गई।

हाल ही में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने चीन से कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में आपात बैठक बुलाने की बात कही थी। चीन के आग्रह पर बुलाई गई बैठक में यूएन के पांच में से चार सदस्य पाकिस्तान के खिलाफ रहे। सभी ने कहा कि यह भारत का आंतरिक मामला है।

 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना