अमेरिका में गर्मी का कहर:बेतहाशा गर्मी; ओरेगॉन में 80 साल का रिकॉर्ड टूटा, ओलिंपिक क्वॉलिफाइंग गेम्स रोकने पड़े

एक वर्ष पहलेलेखक:  नील विगडोर
  • कॉपी लिंक
शारजाह में लोग आइस बाथ ले रहे हैं। - Dainik Bhaskar
शारजाह में लोग आइस बाथ ले रहे हैं।
  • अस्पतालों ने आउटडोर वैक्सीनेशन सेंटर बंद किए, कूलिंग सेंटरों में लोगों की सीमा हटाई

अमेरिका में इन दिनों रिकॉर्डतोड़ गर्मी पड़ रही है। कई इलाकों में दिन का तापमान 44 डिग्री तक पहुंच गया तो मौसम विभाग ने इसे खतरनाक और असामान्य बताया है। पोर्टलैंड के ऑरेगॉन में तो रविवार को पारा 44.4 डिग्री तक पहुंच गया। यह इतिहास का सबसे गर्म दिन है। 1940 में रिकॉर्ड रखने की शुरुआत हुई, तबसे लेकर अब तक यह सर्वाधिक है।

सिएटल में भी तापमान 40 डिग्री तक पहुंच गया। अमेरिका की नेशनल वेदर सर्विस ने कहा कि हमारे जलवायु रिकॉर्ड में पहली बार दो दिनों तक लगातार इतना तापमान दर्ज हुआ है। इतनी ज्यादा गर्मी से अमेरिकी ओलिंपिक गेम्स के ट्रैक और फील्ड ट्रायल में परेशानी आ रही थी। ओरेगॉन के यूगीन में इन ट्रायल्स को रोकना पड़ा और तेज गर्मी के चलते प्रशंसकों से स्टेडियम खाली करने को कहा गया।

अमेरिकी मौसम विभाग ने कहा कि अच्छी बारिश की पहचान वाले शहर यह असहनीय था। इसके अलावा 1894 में रिकॉर्ड रखे जाने के बाद से यह पहली बार था जब क्षेत्र में लगातार दो दिन इतना ज्यादा पारा दर्ज किया गया। स्थिति यह है कि बाजारों में पोर्टेबल एसी और पंखों की बिक्री बढ़ गई है। अस्पतालों ने आउटडोर वैक्सीन सेंटर बंद कर दिए हैं।

वॉशिंगटन के कूलिंग सेंटरों में लोगों की सीमा खत्म कर दी गई है। उत्तरी सिएटल में होटल मालिकों ने बताया कि होटलों के सारे कमरे बुक हो गए हैं। उधर यूरोप के फ्रांस, स्पेन,पुर्तगाल में लोगों को हलाकान कर चुकी लू अब ब्रिटेन की ओर बढ़ रही है।

कुवैत के दो शहर धरती पर पिछले चौबीस घंटे में सबसे ज्यादा गर्म

गर्मी अमेरिका, कनाडा में ही कहर नहीं बरपा रही। मध्य पूर्वी देश भी इससे परेशान हैं। कुवैत के दो शहरों में पिछले 24 घंटे में धरती पर सबसे ज्यादा तापमान दर्ज किया गया है। कुवैत के मौसम विभाग के मुताबिक अल जाहरा में रविवार को पारा 53 डिग्री और अल-नुवैसीब में 52 डिग्री पर पहुंच गया। यूएई में भी पारा 50 डिग्री के करीब चल रहा है।

खबरें और भी हैं...