स्पेन / पैतृक अवकाश लेने वाले पुरुष ज्यादा बच्चे नहीं चाहते, परवरिश को कठिन काम मानते हैं



प्रतीकात्मक चित्र। प्रतीकात्मक चित्र।
X
प्रतीकात्मक चित्र।प्रतीकात्मक चित्र।

  • स्पेन में काननून बच्चे होने पर पिता हर हफ्ते 2 छुट्टियां ले सकते हैं
  • शोधकर्ताओं के मुताबिक, महिलाएं मातृत्व अवकाश के दौरान बच्चे की देखभाल को बोझ नहीं मानतीं

Dainik Bhaskar

May 19, 2019, 08:36 AM IST

मैड्रिड. स्पेन में पैतृक अवकाश लेने वाले ज्यादातर पिता भविष्य में और ज्यादा बच्चे नहीं पैदा करना चाहते। एक शोध में इसका खुलासा हुआ है। दरअसल, स्पेन में 2007 में बने कानून के तहत पुरुष बच्चा पैदा होने के बाद पांच हफ्तों तक हर हफ्ते दो छुट्टियां ले सकते हैं। हालांकि, रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन पिता ने यह छुट्टियां लीं। उनमें से ज्यादातर दो साल के बाद ही परवरिश को कठिन काम मानने लगते हैं और आगे बच्चे पैदा करने की ख्वाहिश नहीं रखते। 

 

यूनिवर्सिटी ऑफ बार्सिलोना की डाक्टर लिडिया फार और यूनिवर्सिटी ऑफ पोम्पियु फाब्रा के लिबरटैड गोंजालेज ने यह अध्ययन किया है। उनके मुताबिक, पैतृक छुट्टियों वाला कानून आने के बाद पुरुषों की फर्टिलिटी में काफी कमी देखी गई। एक बच्चा पैदा होने और उम्र बढ़ने के साथ ही दंपतियों में माता-पिता बनने की चाहत कम होने लगी। 

 

खुद को ज्यादा जिम्मेदार समझते हैं पुरुष

फार के मुताबिक, पिताओं के लिए छुट्टियों का सिस्टम लागू होने के बाद से ही वे बच्चों की संख्या की जगह उनकी गुणवत्ता पर जोर देने लगे। यानी बच्चे के विकास के प्रति उनकी जिम्मेदारी में काफी इजाफा हुआ। पारिवारिक दायित्व समझते हुए आदमियों में अपने बच्चों को बेहतर युवा बनाने के प्रयास भी शुरू हुए। 

 

महिलाओं की सोच में बदलाव नहीं
दूसरी तरफ पैतृक अवकाश बढ़ने के बावजूद महिलाओं में अगले बच्चे की ख्वाहिश में कोई खास फर्क नहीं देखा गया। इसकी एक वजह यह रही कि पतियों/साथियों की छुट्टियों की वजह से बच्चे के पालन-पोषण में महिलाओं को काफी सहूलियत मिलती है। साथ ही पिता के बच्चों से जुड़ने की वजह से उन्हें पारिवारिक जीवन बेहतर करने में आसानी होती है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना