यूएस / फ्लोरिडा में शिक्षक क्लासरूम में भी बंदूक ले जा सकेंगे, लेकिन पहले दिमागी परीक्षण कराना होगा

X

  • फ्लोरिडा की सीनेट ने शिक्षकों को क्लास में बंदूक रखने की मंजूरी देने वाला बिल पारित किया 

May 06, 2019, 12:12 PM IST

फ्लोरिडा (अमेरिका).  फ्लोरिडा में टीचर्स अब क्लासरूम में बंदूक ले जा सकेंगे। यहां की सीनेट ने गुरुवार को इससे जुड़ा विधेयक पारित कर दिया। हालांकि, क्लास में बंदूक ले जाने से पहले टीचर्स को 144 घंटे की ट्रेनिंग लेनी होगी। साथ ही मानसिक परीक्षण करवाना अनिवार्य होगा। 

 

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी इस कानून के समर्थन में हैं। वहीं, विपक्ष का कहना है कि बंदूक को क्लास में ले जाने की मंजूरी नहीं देनी चाहिए। अगर हालात बिगड़ने पर कभी गलती से गोली चल जाए, तो शिक्षक से लेकर स्टूडेंट्स सभी पर बुरा असर पड़ेगा। 

 

पार्कलैंड गोलीबारी के बाद फैसला : दरअसल, फ्लोरिडा में पिछले साल 14 फरवरी को पार्कलैंड के एक स्कूल में गोलीबारी हुई थी। इसमें 17 लोग मारे गए थे। कई लोग घायल भी हुए थे। इसके बाद यह प्रस्ताव लाया गया था। फ्लोरिडा की विधानसभा में रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है। यहां 65 में से 47 वोट बिल के पक्ष में डाले गए। 

 

इस फैसले का विरोध भी कर रहे हैं लोग : पार्कलैंड गोलीबारी कांड से प्रभावित लोग अमेरिका में बंदूकों से जुड़े नियम-कायदों को सख्त करने की मांग करते रहे हैं। इस नए कानून का समर्थन करने वाली नेशनल राइफल एसोसिएशन का तर्क है कि सशस्त्र शिक्षक ही गोली चलाने वालों के खिलाफ बचाव का अच्छा उपाय हो सकते हैं। एक तरफ रिपब्लिकन नेता कह रहे हैं कि यह कानून अच्छे लोगों को बुरे लोगों से लड़ने के लिए मजबूत बनाता है। तर्क यह है कि बुरे व्यक्ति को पता ही नहीं होगा कि अच्छा व्यक्ति भी उस पर जवाबी कार्रवाई कर सकता है। वहीं, विपक्षियों का कहना है कि बंदूक कक्षा में ले जाने की अनुमति नहीं देनी चाहिए, क्योंकि हो सकता है कि गलती से टीचर से गोली चल जाए या पुलिस उस संकट की स्थिति में शिक्षक को अपने साथ ले जाए। 

 

विरोध में शिक्षक ने इस्तीफा दिया : फ्लोरिडा में 20 साल तक टीचर की नौकरी करने के बाद जोनाथन कैरोल ने इस्तीफा दे दिया। उनका कहना है कि यहां शिक्षा के मायने बदल गए हैं। शिक्षक अक्सर तनाव में रहते हैं। क्लास में जरूरत से ज्यादा बच्चे, शिक्षकों की कम तनख्वाह और अब टीचर्स भी बंदूक रखेंगे। स्टूडेंट्स को पढ़ाने के लिए कई बार मैंने अपनी तनख्वाह से सामान भी खरीदा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना