• Hindi News
  • International
  • For The Fourth Consecutive Day, More Than One Lakh New Patients Were Found, Total Deaths Crossed 10 Lakh

अमेरिका में फिर कोरोना का कहर:लगातार चौथे दिन एक लाख से अधिक नए मरीज मिले, कुल मौतों का आंकड़ा 10 लाख पार

न्यूयॉर्क11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका में एक बार फिर से कोरोना का खतरा बढ़ने लगा है। यहां शनिवार को लगातार चौथे दिन एक लाख से ज्यादा नए कोरोना मरीज मिले हैं। 12 मई को 115357 नए मरीज मिले थे, वहीं 13 मई को यह आंकड़ा 107 010 रहा। देश में अब तक कुल 84,174,521 कोरोना मरीज मिल चुके हैं।

पूरे अमेरिका में कुल 1,026,527 मौतें भी हुई हैं। आंकड़ों के अनुसार 81,207,081 मरीज इलाज के बाद ठीक हो गए हैं।

दो दशक की दुर्घटनाओं और संघर्ष से भी अधिक मौतें
अमेरिका में कोविड के कारण जितनी मौतें हुई हैं उतनी दो दशक में कार दुर्घटनाओं या विभिन्न देशों में संघर्ष मोर्चों पर तैनात अमेरिकियों की मौतों को मिलाकर भी नहीं हुई हैं।
एक्सपर्ट्स का कहना है कि नए वायरस से मौतें होना लाजमी है। लेकिन अमेरिका जैसे बड़े क्षेत्रफल वाले देश में भी 10 लाख मौतें होना झकझोर देने वाली बात है। असली आंकड़ा इससे ज्यादा ही है क्योंकि सही आंकड़ा बताया ही नहीं जा रहा है।

मौतें होने के कई कारण

अमेरिका में कोरोना से एक तिहाई मौतें केवल बुजुर्गों की हुई है।
अमेरिका में कोरोना से एक तिहाई मौतें केवल बुजुर्गों की हुई है।

कोरोना से मौतों के कई कारण हैं। मए चुने गए अधिकारी कोरोना वायरस के खतरे को कमतर आंक रहे हैं। इसके अलावा कोरोना से सुरक्षा के नए उपाय भी नहीं किए जा रहे हैं। हेल्थ केयर सिस्टम भी डिसेंट्रलाइज्ड है और इस पर अधिक भार है। टेस्टिंग, ट्रेसिंग और इलाज के लिए काफी संघर्ष है।

अन्य अमीर देशों की तुलना में कम वैक्सीनेशन

दूसरे अमीर देशों की तुलना में अमेरिका में वैक्सीनेशन अभी भी कम हुआ है।
दूसरे अमीर देशों की तुलना में अमेरिका में वैक्सीनेशन अभी भी कम हुआ है।

अमेरिका में वैक्सीनेशन हुआ है लेकिन अन्य अमीर देशों की तुलना में यह काफी कम है। बूस्टर डोज भी कम संख्या में लगाए गए हैं। दक्षिण पंथी मीडिया और नेताओं ने भी अविश्वास और कोरोना के लिए लगाए जाने वाले प्रतिबंधों के विरोध को हवा दी है।

पूरे देश में मौतें एक समान नहीं
एक अमेरिकी अखबार ने 25 महीने के डेटा के आधार पर बताया है कि देश में कोरोना से मौतें सभी जगह एक जैसी या रेंडमली नहीं हो रही हैं। बल्कि कुछ इलाकों, व्यवसाइयों, और जातीय समूहों में यह अधिक हो रही हैं।

बुजुर्ग अधिक प्रभावित
कोरोना ने देश के अधिकांश बुजुर्ग लोगों की जान ले ली है। कुल मरने वालों में एक तिहाई बुजुर्ग हैं। जवान मौतों में काले लोगों की संख्या गोरे लोगों की तुलना में कहीं अधिक है।

हर दिन 300 मौतें
न्यूयॉर्क स्टेट की हेल्थ कमिश्नर मेरी टी बेसेट के अनुसार अमेरिका में हर दिन 300 कोरोना मरीजों की मौतें अभी भी हो रही हैं, जबकि अमेरिका में दुनिया के सबसे अच्छे डॉक्टर्स हैं। यहां कोरोना की वैक्सीन भी अन्य देशों की अपेक्षा जल्दी आ गई। इसके बाद भी यहां इतनी संख्या में मौतें हो रही हैं। यह हम सभी के लिए सोचने वाली बात है।