इराक में 10 महीने बाद आतंकी हमला:4 सैनिकों की मौत, किरकुक शहर के पास स्थित चेकपॉइंट को निशाना बनाया

बगदाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हमले के बाद अन्य सैनिक पैट्रोलिंग करते हुए। - Dainik Bhaskar
हमले के बाद अन्य सैनिक पैट्रोलिंग करते हुए।

इराक के किरकुक में आतंकी हमले हुआ। इसमें सेना के चार जवान शहीद हो गए। न्यूज एजेंसी AFP के मुताबिक, इस्लामिक स्टेट (IS) के आतंकियों ने ये हमला किया। आतंकियों ने किरकुक शहर के पास स्थित चेकपॉइंट को निशाना बनाय। इतना ही नहीं आतंकी हमले के बाद सेना के हथियार और कम्युनिकेशन इक्विपमेंट्स भी ले गए।

10 महीने पहले यानी जनवरी में इसी तरह का हमला किया गया था। तब IS के आतंकियों ने कूबा शहर के अल-अजीम जिले के बैरक को निशाना बनाया था। यहां सैनिक सो रहे थे। तभी आतंकियों ने ताबड़-तोड़ गोलियां बरसा दी। इस दौरान एक गार्ड और 11 सैनिकों की मौत हो गई थी।

किरकुक के गवर्नर रकान सईद अल-जिबौरी ने कहा कि यह हमला लापरवाही के कारण हुआ।
किरकुक के गवर्नर रकान सईद अल-जिबौरी ने कहा कि यह हमला लापरवाही के कारण हुआ।

IS के स्लीपर सेल सुरक्षाबलों को लगातार निशाना बना रहे
इराक की सरकार ने 2017 में दावा किया था कि उसने ISIS को हरा दिया है। सरकार का कहना था कि IS के पास स्लीपर सेल हैं, जो सुरक्षाबलों को लगातार निशाना बना रहे हैं। इराकी सरकार इस तरह के हमलों को बड़ी चुनौती मान रही है और इससे छुटकारा पाने के लिए प्लान तैयार करने की बात कह रही है।

2016 में हुआ था सबसे खतरनाक आतंकी हमला

बगदाद में हुए इस हमले में कम से कम 200 लोग घायल हुए थे।
बगदाद में हुए इस हमले में कम से कम 200 लोग घायल हुए थे।

जुलाई 2016 में इराक की राजधानी बगदाद में IS के आतंकियों ने हमला कर दिया था। इसमें 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। ये एक आत्मघाती हमला था। एक ट्रक भीड़-भाड़ वाले इलाके में घुस गया जिसके बाद धमाका हुआ था। सरकार ने देश में तीन दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित कर दिया था।