--Advertisement--

राफेल / ओलांद के बयान के बाद फ्रांस ने भारत के साथ रिश्ते खराब होने का डर जताया



France fears damage to India ties after Hollande fans controversy over Rafa
X
France fears damage to India ties after Hollande fans controversy over Rafa

  • ओलांद ने कहा था कि भारत ने डैसो को साझेदार के तौर पर रिलायंस का नाम दिया
  • राहुल ने ओलांद के इसी बयान पर भाजपा सरकार पर निशाना साधा था

Dainik Bhaskar

Sep 24, 2018, 01:45 AM IST

पेरिस. फ्रांस सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद के राफेल पर खुलासे के बाद भारत के साथ रिश्ते खराब होने का डर जताया है। फ्रांस के उप विदेश मंत्री जॉन बापतिस्त लेमोएन ने रविवार को एक रेडियो इंटरव्यू में कहा, “मुझे लगता है ओलांद का बयान फ्रांस और भारत के अंतरराष्ट्रीय संबंधों के लिए ठीक नहीं। अगर कोई व्यक्ति जो पद पर नहीं है वो बयान देकर भारत में विवाद पैदा करता है और दोनों देशों के रिश्ते खराब करता है तो यह गलत है।”

 

 

ओलांद ने कहा- फ्रांस के पास कोई विकल्प नहीं था

  1. ओलांद ने शुक्रवार को फ्रेंच मैगजीन मीडियापार्ट को दिए इंटरव्यू में कहा था कि भारत सरकार ने दैसो एविएशन के स्थानीय साझेदार के तौर पर सिर्फ रिलायंस का नाम दिया था। इसी के बाद भारत में राफेल डील को लेकर एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया।

  2. हालांकि, 24 घंटे बाद ओलांद ने अपना बयान बदलते हुए कहा था कि रिलायंस को चुने जाने के बारे में राफेल बनाने वाली दैसो कंपनी ही कुछ बता सकती है। ओलांद ने ही सितंबर 2016 में हुई राफेल डील पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हस्ताक्षर किए थे। 

  3. क्यों है एचएएल-रिलायंस विवाद? 

    इस समझौते में राफेल विमानों के रखरखाव का जिम्मा भारत की कंपनियों को सौंपा जाना है। इसी के तहत दैसो एविएशन ने अनिल अंबानी की रिलायंस डिफेंस के साथ समझौता किया। सरकार ने एचएएल के समझौते से बाहर होने की वजह यूपीए सरकार की नीतियों को बताया। लेकिन, विशेषज्ञों का कहना है कि दैसो ने खुद तकनीक के लीक की आशंका के चलते एचएएल के साथ समझौते से इनकार कर दिया था।

  4. विवाद पर वित्त मंत्री, रक्षा मंत्री, कानून मंत्री दे चुके हैं बयान

    ओलांद का बयान सामने आने के बाद भारत में जहां विपक्ष ने सरकार की गड़बड़ियां खुल कर बाहर आने की बात कही। वहीं, सरकार की तरफ से वित्त मंत्री, रक्षा मंत्री और कानून मंत्री ने विपक्ष के आरोपों को झूठ का पुलिंदा बताया।

  5. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि लगता है राहुल को ओलांद के बयान के बारे में पहले से पता था। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी शनिवार को ट्वीट में प्रधानमंत्री के बारे में गलत बोलने पर कांग्रेस अध्यक्ष के पूरे खानदान को चोर बताया था। 

  6. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में भ्रष्टाचार, बोफोर्स घोटाला और वाड्रा जमीन सौदे को लेकर गांधी परिवार पर निशाना साधा था। 

Astrology

Recommended

Click to listen..