• Hindi News
  • International
  • Rafale: France: Air Force's Chief of Staff says, Indian pilots taking to Rafale jets 'was amazing'

युद्धाभ्यास / फ्रांस के चीफ ऑफ एयर स्टाफ बोले- भारतीय पायलटों का राफेल उड़ाने का अनुभव शानदार रहा



Rafale: France: Air Force's Chief of Staff says, Indian pilots taking to Rafale jets 'was amazing'
X
Rafale: France: Air Force's Chief of Staff says, Indian pilots taking to Rafale jets 'was amazing'

  • 1-12 जुलाई तक भारत और फ्रांस की वायुसेनाओं ने संयुक्त रूप से अभ्यास किया
  • रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान राफेल और सुखोई-30 ने साथ में उड़ान भरी 
  • एयर मार्शल राकेश कुमार सिंह ने कहा- दो वायुसेनाओं ने दो सप्ताह तक साथ में अभ्यास किया
  • भारतीय राजदूत क्वात्रा ने बताया कि वायुसेनाओं के संयुक्त अभ्यास का छठा सत्र था

Jul 13, 2019, 08:49 AM IST

पेरिस. फ्रेंच एयरफोर्स के चीफ ऑफ स्टाफ जनरल फिलिप लेविन ने शनिवार को कहा कि इंडो-फ्रेंच गरुड़ VI एक्सरसाइज के दौरान भारतीय पायलटों का राफेल जेट्स को उड़ाने का सफर शानदार रहा। भारतीय एयर मार्शल राकेश कुमार सिंह ने कहा- दोनों वायुसेनाओं ने दो हफ्ते तक साथ में अभ्यास किया। यह अनुभव काफी अच्छा रहा।

 

फिलिप ने बताया- दो या तीन फ्लाइट के बाद आप सहज हो जाते हैं। स्क्वॉड्रन ने भी मुझे जो फीडबैक दिया, वह बहुत बढ़िया था। दरअसल, इस एयरक्राफ्ट का इंटरफेस बहुत अच्छा और साफ है। यह पायलट के लिए चीजें आसान बना देता है। यह एक प्रामाणिक लड़ाकू विमान है। मैं मानता हूं कि यह अनुभवी पायलट और बहुत अच्छे एयरक्राफ्ट का मिश्रण है, जो कमाल है।

 

द्विपक्षीय सहयोग से जुड़ी प्रक्रिया- रिपोर्ट

इससे पहले मो-डे-मार्सन में 1 से 12 जुलाई के बीच गरुड़ एक्सरसाइज संपन्न हुई। इसका मकसद दोनों देशों के बीच एयर डिफेंस और मैदानी हमलों की क्षमता को बढ़ाना था। यह एक्सरसाइज दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सहयोग को ध्यान में रखते हुए कराई गई थी। गरुड़ युद्धाभ्यास बारी-बारी से भारत और फ्रांस में कराया जाता है।  

 

‘रणनीतिक सहयोग बढ़ेगा’ 

भारतीय राजदूत विनय मोहन क्वात्रा ने बताया- गरुड़ एक्सरसाइज का यह छठा सत्र था। योजना के स्तर पर इस बार का सत्र और भी ज्यादा प्रभावी रहा। सबसे महत्वपूर्ण बात कि गरुड़ एक्सरसाइज बड़े परिदृश्य को ध्यान में रखकर की गई थी। इससे भारत और फ्रांस के बीच न सिर्फ रणनीतिक सहयोग बढ़ेगा बल्कि इसमें और मजबूती भी आएगी।

 

एक सेना में 15-20 एयरक्राफ्ट शामिल- सिंह

एयर मार्शल राकेश कुमार सिंह ने कहा- हमने करीब 400 घंटे की उड़ान भरी। इसमें 100 घंटे इंडियन एयरक्राफ्ट और 300 घंटे फ्रेंच एयरक्राफ्ट पर बिताए। पूरी प्रक्रिया बेहद वास्तविक थी। युद्धाभ्यास में एक तरफ में 15-20 एयरक्राफ्ट शामिल होते हैं। दो से ढाई घंटे का अभ्यास होता है। 

 

‘‘पहले हफ्ते में सामान्य युद्धाभ्यास हुआ। इसमें एक के साथ एक, फिर दो के साथ एक, इसके बाद दो के साथ दो विमानों ने उड़ान भरी। दूसरे हफ्ते में एयर-टू-एयर रिफ्यूलिंग का अभ्यास किया गया।’’

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना