फ्रांस / विशेषज्ञों ने कहा- समुद्री तटों पर फैली काई चंद सेकंड में जान ले सकती है, कई बीच पर जाने पर रोक



समुद्री तटों पर फैली काई। समुद्री तटों पर फैली काई।
X
समुद्री तटों पर फैली काई।समुद्री तटों पर फैली काई।

  • हरी काई जहरीली हाइड्रोजन सल्फाइड गैस उत्सर्जित करती है, इससे दिल का दौरा पड़ने का खतरा
  • रिपोर्ट के मुताबिक- शैवाल से संपर्क में आने के चलते हाल ही में फ्रांस में 2 लोगों और कई जानवरों की मौत हुई

Dainik Bhaskar

Sep 17, 2019, 08:56 AM IST

पेरिस. फ्रांस के कई समुद्र तट जानलेवा हरी काई से भरी हुई है। विशेषज्ञों का कहना है कि ये काई चंद सेकंडों में सनबाथ करने वाले लोगों को मारने की क्षमता रखती है। गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटनी इलाके में इस डर के चलते कई समुद्री तटों को बंद भी कर दिया गया है।

तटों पर लोगों का मरना शर्म की बात- पर्यावरण कार्यकर्ता

  1. पर्यावरण कार्यकर्ता आंद्रे ओलेइवरो का कहना है कि यह शर्म की बात है कि तटों पर लोग मर रहे हैं। तट पर ज्यादा मात्रा में हरी काई हो तो सेकंडों में आपकी जान जा सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक, हाल में ब्रिटनी इलाके में शैवाल के संपर्क में आने से दो लोगों और कई जानवरों की मौत हो चुकी है।

  2. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सेंट ब्रीयूस के पास उत्तरी तट पर चारों ओर जहरीला शैवाल फैला हुआ है। हरी काई जहरीली हाइड्रोजन सल्फाइड गैस उत्सर्जित करती है। इससे सनबाथ लेने वाले लोगों को दिल का दौरा पड़ने का खतरा होता है।

     

  3. दशकों से तटों की सफाई की जा रही है। लेकिन, पर्यावरणविदों का कहना है कि असमान्य मौसम के कारण इस साल गर्मी में स्थिति और भी खराब हो गई थी। सेंट ब्रीयूस टाउन हॉल के प्रवक्ता ने बताया कि जून के महीने में भारी बारिश के बाद तटों पर ज्यादा मात्रा में काई फैल गई।

  4. इस विषय पर कॉमिक बुक लिखने वाले इनेस लेरॉड ने गार्जियन को बताया कि हर साल लगभग 20 लोग इस तट पर मारे जाते हैं। कई अक्सर टाइड्स या धाराओं के साथ बह जाते हैं, लेकिन सरकार ने इससे बचने के लिए कोई महत्वपूर्ण कदम नहीं उठाया।

     

    DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना