• Hindi News
  • International
  • Future Or Fantasy Designs Unveiled For One building City Stretching 106 Miles In Saudi Arabia

दुनिया की पहली वर्टिकल सिटी:सऊदी अरब में बनाया जा रहा 170 किलोमीटर लंबा शहर, इसे बनाने में लगेंगे 39.98 लाख करोड़ रुपए

रियाद2 महीने पहले

सऊदी अरब दुनिया की पहली वर्टिकल सिटी बनाने जा रहा है। इस प्रोजेक्ट को 'द लाइन' नाम दिया गया है। ये वन बिल्डिंग सिटी होगी। इसकी चौड़ाई 200 मीटर (656 फीट) होगी, जबकि इसकी लंबाई 170 किलोमीटर होगी। इतना ही नहीं, यह सी लेवल से 500 मीटर (1,640 फीट ) ऊपर होगी।

वन बिल्डिंग सिटी कांच की बनी होगी। यानी शहर की बाहरी दीवारें कांच से बनाई जाएंगी। ये बिलकुल वैसा दिखेगा जैसे हमने अब तक हॉलीवुड की साइंस फिक्शन मूवीज में देखा है।
वन बिल्डिंग सिटी कांच की बनी होगी। यानी शहर की बाहरी दीवारें कांच से बनाई जाएंगी। ये बिलकुल वैसा दिखेगा जैसे हमने अब तक हॉलीवुड की साइंस फिक्शन मूवीज में देखा है।
खास बात तो ये है कि ये सिटी पूरी तरह से रिन्यूएबल एनर्जी से संचालित होगी। मतलब, इस शहर में सप्लाई होने वाली बिजली सोलर एनर्जी, बायोमॉस और हाइड्रो पावर से पैदा होगी।
खास बात तो ये है कि ये सिटी पूरी तरह से रिन्यूएबल एनर्जी से संचालित होगी। मतलब, इस शहर में सप्लाई होने वाली बिजली सोलर एनर्जी, बायोमॉस और हाइड्रो पावर से पैदा होगी।
सऊदी अधिकारियों का कहना है कि यह परियोजना भविष्य का शहर बसाने की है। रिन्यूएबल एनर्जी की मदद से इसे पॉल्यूशन से बचाया जा सकेगा।
सऊदी अधिकारियों का कहना है कि यह परियोजना भविष्य का शहर बसाने की है। रिन्यूएबल एनर्जी की मदद से इसे पॉल्यूशन से बचाया जा सकेगा।
इस सिटी में ऑफिस, बच्चों के लिए स्कूल और कॉलेज, मनोरंजन के लिए पार्क भी होंगे। यहां घर भी एक के ऊपर एक बनाए जांएगे, बिलकुल फ्लैट्स की तरह कंस्ट्रक्शन होगा।
इस सिटी में ऑफिस, बच्चों के लिए स्कूल और कॉलेज, मनोरंजन के लिए पार्क भी होंगे। यहां घर भी एक के ऊपर एक बनाए जांएगे, बिलकुल फ्लैट्स की तरह कंस्ट्रक्शन होगा।
इस शहर में कारें नहीं होंगी, बल्कि हाई-स्पीड रेल सुविधा उपलब्ध होगी। यहां रहने वाले लोगों को एक छोर से दूसरे छोर तक जाने में सिर्फ 20 मिनट का ही समय लगेगा।
इस शहर में कारें नहीं होंगी, बल्कि हाई-स्पीड रेल सुविधा उपलब्ध होगी। यहां रहने वाले लोगों को एक छोर से दूसरे छोर तक जाने में सिर्फ 20 मिनट का ही समय लगेगा।
इसे बनाने में करीब 500 बिलियन डॉलर्स यानी 39.98 लाख करोड़ रुपए की लागत आएगी। यहां पर करीब 90 लाख लोगों के रहने की व्यवस्था की जाएगी।
इसे बनाने में करीब 500 बिलियन डॉलर्स यानी 39.98 लाख करोड़ रुपए की लागत आएगी। यहां पर करीब 90 लाख लोगों के रहने की व्यवस्था की जाएगी।
खबरें और भी हैं...