• Hindi News
  • International
  • Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio

जी-7 समिट / तीन बार मध्यस्थता की पेशकश कर चुके ट्रम्प को मोदी की दो टूक- कश्मीर पर किसी देश को कष्ट नहीं देना चाहते



Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
X
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio
Narendra Modi, France G7 Summit Update: Narendra Modi, Donald Trump Meeting On Kashmir Issue; Boris Johnson, Antonio

  • इमरान की कोशिशें बेकार; मोदी ने कहा- कश्मीर भारत-पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला, दोनों देश इसका समाधान ढूंढ सकते हैं
  • इस पर ट्रम्प ने कहा- हमने इस विषय पर बात की थी, प्रधानमंत्री ने मुझसे कहा कि कश्मीर में स्थिति नियंत्रण में है
  • ट्रम्प ने 22 जुलाई को इमरान की मौजूदगी में मध्यस्थता की पेशकश की थी, उन्होंने यही प्रस्ताव 2 अगस्त और 23 अगस्त को दोहराया था
  • मोदी ने मीडिया से कहा- हमें बात करने दीजिए; इस पर ट्रम्प ने कहा- प्रधानमंत्री बहुत अच्छी अंग्रेजी बोल लेते हैं, लेकिन यहां बोलना नहीं चाहते

Dainik Bhaskar

Aug 26, 2019, 07:31 PM IST

पेरिस. बियारिट्ज में जी-7 समिट के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच मुलाकात हुई। दोनों नेताओं के बीच कश्मीर मसले पर बात हुई। साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में मोदी ने ट्रम्प के सामने दो टूक कहा कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला है और हम दुनिया के किसी भी देश को इस पर कष्ट नहीं देना चाहते। कश्मीर पर तीन बार मध्यस्थता की पेशकश कर चुके ट्रम्प ने कहा कि मोदी से पिछली रात इस मसले पर बात हुई। उन्हें विश्वास है कि कश्मीर के हालात उनके नियंत्रण में हैं। ट्रम्प ने कहा कि भारत और पाकिस्तान मिलकर अपनी समस्याएं सुलझा सकते हैं।

 

इमरान की अमेरिका यात्रा के दौरान ट्रम्प ने 22 जुलाई को मध्यस्थता की पेशकश की थी। उन्होंने यही प्रस्ताव 2 अगस्त और 23 अगस्त को दोहराया था।

 

मोदी-ट्रम्प की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस

  • मोदी ने कहा- ट्रम्प से मुलाकात अहम है। उन्होंने टेलीफोन कर मुझे बधाई दी थी। भारत और अमेरिका दोनों लोकतांत्रिक मूल्यों से चलने वाले देश हैं। भारत और अमेरिका की व्यापार के क्षेत्र में लगातार बातचीत हुई। हम अमेरिका के सुझावों का स्वागत करते हैं। भारतीय समुदाय अमेरिका में भारी इनवेस्टमेंट कर रहा है।
  • "पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनने के बाद इमरान को मैंने फोन किया था। उनसे कहा था कि भारत-पाक के बीच कई द्विपक्षीय मसले हैं। दोनों देशों को गरीबी, अशिक्षा के खिलाफ लड़ना है। हम दोनों को मिलकर आतंकवाद के खिलाफ भी लड़ना है और दोनों देशों की अवाम की भलाई के लिए काम करना है।"
  • उन्होंने कहा- भारत और पाकिस्तान 1947 से पहले एक थे। हम अभी भी साथ मिलकर अपनी समस्याओं पर चर्चा कर सकते हैं।
  • ट्रम्प ने कहा- कल रात मेरी प्रधानमंत्री मोदी से कश्मीर पर बात हुई थी। प्रधानमंत्री मोदी को वास्तव में लगता है कि वहां के हालत उनके नियंत्रण में हैं। मोदी ने पाकिस्तान से बातचीत की है। मुझे यकीन है कि वे कुछ अच्छा करने में सक्षम हैं। वे कुछ कर सकते हैं।

 

मोदी ने जैव विविधता पर सत्र को संबोधित किया

रविवार को भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने यहां जैव विविधता, महासागर और जलवायु के मुद्दे पर रखे गए एक सत्र को संबोधित किया। इसके बाद वे जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से भी मिले। इससे पहले मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘महासचिव के साथ बातचीत शानदार रही। उनके साथ कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। हमने जलवायु परिवर्तन रोकने वाले प्रयासों को भी तेज करने पर चर्चा की।’’ 

 

जॉनसन के प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी से यह उनकी पहली मुलाकात थी। मोदी ने बताया कि ब्रिटेन के साथ कई मुद्दों व्यापार, रक्षा और नई खोजों को लेकर चर्चा हुई। भारत और ब्रिटेन के रिश्ते आने वाले वक्त में और मजबूत होंगे, जिसका फायदा दोनों देशों के लोगों को मिलेगा। मोदी ने एशेज सीरीज के तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड की जोरदार जीत पर जॉनसन को बधाई दी। बीते हफ्ते दोनों नेताओं की फोन पर बात हुई थी। इसमें जॉनसन ने कश्मीर मुद्दे को भारत-पाक का द्विपक्षीय मसला बताया था। 


गुटेरेस ने तनाव कम करने की अपील की थी
अनुच्छेद 370 खत्म करने के बाद मोदी की अंतरराष्ट्रीय नेताओं के साथ यह पहली मुलाकात थी। जम्मू-कश्मीर दो भागों में विभाजन के फैसले के बाद गुटेरेस ने भारत और पाकिस्तान को ज्यादा संयम बरतने के लिए कहा था। गुटेरेस शिमला समझौते का जिक्र कर चुके हैं, जिसके मुताबिक कश्मीर मुद्दा केवल द्विपक्षीय बातचीत से ही हल होगा और इसमें किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता नहीं होगी। 

 

भारत लगातार अंतरराष्ट्रीय बिरादरी से यही कह रहा है कि अनुच्छेद 370 हटाना उसका आंतरिक मामला है। पाकिस्तान इस सच को स्वीकार करे, यही बेहतर होगा।

 

मोदी कई नेताओं से मिलेंगे
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया, ‘‘जी-7 समिट में प्रधानमंत्री मोदी को एक खास सहयोगी के तौर पर आमंत्रित किया गया है। मोदी जलवायु परिवर्तन, जैवविविधता, सामुद्रिक और डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन से जुड़े कई सत्रों में हिस्सा लेंगे। इसके अलावा वे दुनिया के कई नेताओं से मुलाकात भी करेंगे।’’

 

बहरीन और यूएई के दौरे पर गए थे मोदी
मोदी 23 अगस्त को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के दौरे पर गए थे। न्होंने अबु धाबी के क्राउन प्रिंस, शेख मोहम्मद बिन जायद से मुलाकात की। मोदी को यूएई में सर्वोच्च सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ से सम्मानित किया गया।

24 अगस्त को मोदी बहरीन पहुंचे। यहां क्राउन प्रिंस सलमान बिन हमाद ने शनिवार को ‘द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ द रेनेसां’ से सम्मानित किया। फ्रांस रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री ने श्रीनाथ मंदिर के दर्शन किए। दोनों नेताओं के बीच भारत और बहरीन की दोस्ती, व्यापारिक संबंधों और सांस्कृतिक आदान-प्रदान को लेकर बातचीत हुई।

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना