जॉर्डन में जहरीली गैस का रिसाव:अब तक 12 लोगों की मौत, 251 घायल, लोगों से घरों में रहने की अपील

2 महीने पहले

जॉर्डन के अकाबा बंदरगाह पर एक टैंकर से जहरीली गैस के रिसाव से 12 लोगों की मौत हो गई और 251 घायल हो गए। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, सोमवार देर रात अकाबा पोर्ट पर एक टैंकर क्लोरीन गैस ले जा रहा था। क्रेन के करीब पहुंचते ही इसमें ब्लास्ट हो गया। इसमें 12 लोग मारे गए। घटना के बाद लोग जान बचाने के लिए भागते दिखे।

सरकार की अपील- घरों में ही रहें
अकाबा हेल्थ डिपार्टमेंट के हेड जमाल ओबेदियात ने कहा- हम शहर के लोगों से अपील करते हैं कि वो अगले आदेश तक अपने घरों में ही रहें। अगर दिक्कत ज्यादा है तो घरों के दरवाजे और खिड़कियां पूरी तरह बंद रखें। हमें लगता है कि मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है, क्योंकि कई घायलों की हालत बेहद गंभीर है।

अकाबा पोर्ट पर तमाम शिपिंग ऑपरेशन्स बंद कर दिए गए हैं। स्पेशल प्रोटेक्शन सूट में रेस्क्यू टीम घटनास्थल पर भेजी गई है।
अकाबा पोर्ट पर तमाम शिपिंग ऑपरेशन्स बंद कर दिए गए हैं। स्पेशल प्रोटेक्शन सूट में रेस्क्यू टीम घटनास्थल पर भेजी गई है।

कर्मचारियों की गलती से हादसा
रिपोर्ट्स के मुताबिक, हादसा कर्मचारियों की गलती की वजह से हुआ। जब सिलेंडर शिप पर लोड किया जा रहा था। तभी बेहद तेज धमाका हुआ। इसके बाद सिलेंडर जमीन पर आ गिरा। इस पोर्ट पर घटना के वक्त करीब 25 टन क्लोरीन गैस स्टोर थी।

फील्ड अस्पताल बनाया
इन्फॉर्मेशन मिनिस्टर फैसल अल सुबुल ने कहा- हमने फौरन फील्ड अस्पताल बनाने के आदेश दिए हैं। अकाबा की जनसंख्या करीब एक लाख 88 हजार है। यहां से कुछ दूरी पर इजराइली शहर ईलत है। इसकी आबादी 50 हजार है। दोनों शहर सड़क से भी जुड़े हुए हैं। हमने हालात को काबू कर लिया है, लेकिन ये सही है कि कुछ घायलों की हालत बेहद गंभीर है।