पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • International
  • General Elections For The Third Time In A Year In Israel, Exit Poll Claims Benjamin Netanyahu Will Again Become Prime Minister

एक साल में तीसरी बार आम चुनाव हुए, एग्जिट पोल का दावा- नेतन्याहू फिर बनेंगे प्रधानमंत्री

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जीत के बाद समर्थकों का अभिवादन करते बेंजामिन नेतन्याहू और उनकी पत्नी।
  • चुनाव से पहले दिए इंटरव्यू में नेतन्याहू ने कहा था- अब जीता तो वेस्ट बैंक और जॉर्डन वैली के हिस्सों पर भी कब्जा करूंगा
  • मुख्य प्रतिद्वंदी बेनी गांट्ज बोले- जीत का सपना देख रहे हैं नेतन्याहू, किसी भी हालत में उनकी सरकार नहीं बनेगी

तेल अवीव. इजराइल में एक साल के अंदर तीसरी बार 2 मार्च को आम चुनाव हुए। चुनाव के बाद देश के ज्यादातर एग्जिट पोल का दावा है कि प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू इस बार भी चुनाव जीत जाएंगे। हालांकि, पोल के मुताबिक नेतन्याहू और उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी पूर्व सेना प्रमुख बेनी गांट्ज के बीच जीत का अंतर काफी कम रहेगा। चुनाव से ठीक पहले नेतन्याहू ने इजराइल रेडियो को दिए इंटरव्यू में कहा कि अगर इस बार मैं चुनाव जीता तो वेस्ट बैंक और जॉर्डन वैली के हिस्सों को भी इजराइल में शामिल कराना लक्ष्य होगा। इसमें ज्यादा से ज्यादा दो से तीन महीने का समय लग सकता है। 

नेतन्याहू को करीब 37, गांट्ज को 32-34 सीटें मिलने का दावा 
एग्जिट पोल के मुताबिक, नेतन्याहू इस चुनाव में करीब 37 सीटें जीत रहे हैं, जबकि गांट्ज को 32 से 34 सीटें मिल सकती हैं। नेतन्याहू की सहयोगी पार्टियों की सीटें मिलाकर यह आंकड़ा 59- 60 के पास पहुंच जाता है। हालांकि सरकार बनाने के लिए एक से दो सीटों की जरूरत पड़ सकती है। इजराइल में 120 सीटों वाली संसद है। गांट्ज ने इस एग्जिट पोल को खोखला बताया है। उन्होंने अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि नेतन्याहू इस चुनाव में जीत नहीं सकते हैं। एग्जिट पोल को भी आधार मान लें, तब भी नेतन्याहू सरकार बनाते हुए नहीं दिख रहे। 

पहले के दो चुनाव में किसी को नहीं मिला था स्पष्ट बहुमत
पिछले साल अप्रैल और सितंबर में हुए चुनाव में किसी भी प्रत्याशी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिले थे। इसके चलते सरकार का गठन नहीं हो पाया था। अब उम्मीद जताई जा रही है कि इस बार स्पष्ट बहुमत से किसी की सरकार बन जाएगी। 

फिलिस्तीन और इजरायल के बीच है वेस्ट बैंक की लड़ाई
फिलीस्तीन वेस्ट बैंक, पूर्वी येरुशलम और गाजा पट्टी को साथ मिलाकर एक देश बनाना चाहता है, लेकिन इजरायल वेस्ट बैंक, पूर्वी येरुशलम पर अपना दावा करता है। इजराइल अब चार लाख यहूदियों की बस्ती का विस्तार कर उसे अपने अधिकार में लेना चाहता है। वेस्ट बैंक की बात करें, तो इजराइल की ओर से यहां पर लाखों यहूदियों को बसाया जा चुका है, लेकिन इस हिस्से में करीब 25 लाख फिलिस्तीनी रहते हैं।
 

ट्रम्प की रणनीति का हिस्सा है पश्चिमी एशिया में शांति  
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की पश्चिम एशिया शांति योजना में इजराइल और फिलिस्तीन के बीच चल रहा विवाद भी शामिल है। यह योजना जनवरी में सामने आई थी। इसके तहत इजराइल को जॉर्डन वैली और वेस्ट बैंक क्षेत्र को अपने कब्जे में लेने की मंजूरी मिल गई थी। एक ऐसी कमेटी भी तैयार करने का प्रस्ताव दिया गया था जो यह देखेगी कि कितनी सीमा अपने कब्जे में लेनी है। हालांकि ट्रम्प के इस योजना की काफी आलोचना भी हुई थी। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें