जर्मनी में कोरोना से हालात खराब:पहली बार 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 50 हजार नए मामले, मौतों पर वायरोलॉजिस्ट ने चेताया

बर्लिन8 महीने पहले

जर्मनी में गुरुवार को कोविड-19 के रिकॉर्ड 50,196 नए मामले सामने आए हैं। महामारी की शुरुआत के बाद यह पहली बार है जब जर्मनी ने 50 हजार के आंकड़े को पार किया है। पिछले 24 घंटे में यहां 244 मौतें हुई है। वहीं, जर्मनी के टॉप वायरोलॉजिस्ट क्रिश्चियन ड्रॉस्टन ने आने वाले दिनों में 1 लाख मौतों की आशंका जाहिर की है।

ड्रॉस्टन ने इसे इमरजेंसी बताया और कहा- हमें तत्काल एक्शन लेना होगा। उन्होंने कोरोना के UK स्ट्रेन पर हुई स्टडी के बारे में बताते हुए कहा कि वायरस संक्रामक होने के साथ जानलेवा भी हो गया है। डॉक्टरों का कहना है कि यह अब तक की सबसे खराब लहर हो सकती है। हाल के दिनों में संक्रमण और मौतों में बढ़त हुई है।

बर्लिन के एक सेंटर पर वैक्सीनेशन के लिए लोग कतार में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं।
बर्लिन के एक सेंटर पर वैक्सीनेशन के लिए लोग कतार में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं।

सार्वजनिक कार्यक्रमों में शामिल होने पर रोक
यहां के सैक्सोनी राज्य में संक्रमण दर सबसे अधिक है। यहां पिछले 7 दिनों में प्रति 1 लाख लोगों पर 459 मामलों दर्ज किए गए हैं। इस राज्य ने अन-वैक्सीनेटेड लोगों पर बार, रेस्तरां, सार्वजनिक कार्यक्रमों में शामिल होने पर रोक लगा दी है। टीकाकरण की दर 70% से कम होने के कारण सरकार लोगों से वैक्सीन लगवाने के लिए कह रही है। अन-वैक्सीनेटेड लोगों के लिए आने वाले महीनों में संक्रमित होने का सबसे खतरा बढे़गा।

सितंबर के आम चुनाव के बाद देश में कोराना के मामलों में उछाल आया है। कई राजनीतिक पार्टियां अनिवार्य वैक्सीनेशन के खिलाफ है। इनका कहना है कि, सरकार में आने के बाद वो कोई लॉकडाउन नहीं लगाएंगी।

यूरोप में तेजी से बढ़ रहे मामले
दुनियाभर में कोरोना से अब तक 25.22 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, इस महामारी से अब तक कुल 50.9 लाख से ज्यादा लोगों ने जान गंवाई है। जर्मनी और ब्रिटेन के साथ ही नीदरलैंड, पोलैंड और रूस जैसे देशों में कोरोना एक बार पांव पसार रहा है। ये वो देश हैं जो अपनी करीब दो तिहाई आबादी को पूरी तरह से वैक्सीनेट कर चुके हैं। ब्रिटेन में भी लगातार 30 हजार से अधिक केस सामने आ रहे हैं। ब्रिटेन में पिछले एक हफ्ते में करीब 1200 और जर्मनी में 950 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। बेल्जियम के स्वास्थ्य मंत्री फ्रैंक वांडरब्रुक ने भी माना है कि उनका देश कोरोना की चौथी लहर का सामना कर रहा है।