जर्मनी / बंदूकधारी ने यहूदी प्रार्थना स्थल के बाहर 2 लोगों को मारा, सिर पर लगे कैमरे से लाइव स्ट्रीमिंग की



Gunman Live-Streamed Attack Outside German Synagogue That Killed Two
X
Gunman Live-Streamed Attack Outside German Synagogue That Killed Two

  • घटना जर्मनी के पूर्वी शहर हाले में हुई, हमलावर प्रार्थना स्थल में कत्लेआम करना चाहता था
  • हमलावर ने एक सप्ताह पहले इंटरनेट पर हमले की योजना अपलोड की थी
  • वीडियो में उसने यहूदियों को दुनिया की समस्याओं की जड़ बताया, दर्शकों से माफी मांगी
  • पुलिस ने कहा- बंदूकधारी ने न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में हुए हमले के जैसा तरीका अपनाया

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 02:28 PM IST

बर्लिन. जर्मनी के पूर्वी शहर हाले में बंदूकधारी ने फायरिंग कर बुधवार को दो लोगों को मार डाला। घटना यहूदी प्रार्थना स्थल के बाहर हुई, जहां यहूदियों के पवित्र दिन योम किप्पुर की प्रार्थना चल रही थी। वह कत्लेआम के लिए अंदर घुसना चाहता था, लेकिन कामयाब नहीं हो सका। उसने प्रार्थना स्थल के गेट पर भी कई गोलियां दागीं, उस वक्त करीब 80 यहूदी श्रद्धालु अंदर मौजूद थे। बंदूकधारी ने इस हमले का वीडियो बनाने के लिए अपने सिर पर कैमरा भी लगा रखा था। उसने वीडियो गेमिंग प्लेटफॉर्म ट्विटच (Twitch) पर लाइव स्ट्रीमिंग भी की, हालांकि कुछ देर में इसे हटा लिया गया।

 

जर्मनी के सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने एक संदिग्ध हमलावर को गिरफ्तार किया है। उसकी पहचान 27 वर्षीय बेनड्रॉफ के रूप में हुई। धार्मिक स्थल पर हमले का यह तरीका बिल्कुल क्राइस्टचर्च (न्यूजीलैंड) जैसा है। यहां मार्च में 28 साल की ब्रेंटन टॉरेंट ने मस्जिदों में अंधाधुंध फायरिंग कर 51 लोगों की हत्या कर दी थी। उसने सिर पर कैमरा लगाकर इस कत्लेआम की फेसबुक पर लाइव स्ट्रीमिंग की थी। इसके बाद फेसबुक को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।

 

हमलावर ने कहा- यहूदी समस्याओं की जड़

चरमपंथ का अध्ययन करने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था के एक वीडियो को अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट ने इंटरनेट पर पोस्ट पर किया है। करीब 35 मिनट के वीडियो में हरे रंग की जैकेट पहने हमलावर ने अपना नाम एनॉन बताया। उसने प्रलय से इनकार करते हुए दुनिया की समस्याओं की लिस्ट बनाई। बार-बार कसम खाई और दर्शकों से माफी मांगी। हमलावर ने कहा कि यहूदी सभी समस्याओं की जड़ हैं। इसके बाद उसने श्रद्धालुओं से भरे यहूदी प्रार्थना स्थल में घुसने की कोशिश की। लेकिन प्रार्थना स्थल के सुरक्षाकर्मियों ने वक्त रहते गेट बंद कर दिया। हमले में नाकाम रहने पर उसने बाहर एक महिला समेत दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी।

 

इधर अतिवादी समूहों की सायबर गतिविधियों पर नजर रखने वाली संस्था साइट (SITE) के मुताबिक, हमलावर ने एक सप्ताह पहले ही अपने इरादे जाहिर किए थे। साइट की निदेशक रीटा केट्ज ने कहा, "हमलावर ने हमले में इस्तेमाल किए गए हथियार और असलहा संबंधी एक दस्तावेज भी अपलोड किया था। हमलावर ने यहूदियों समेत गैर श्वेत लोगों को मारने के मकसद से हमला करने की बात भी कही थी। ये हमलावर की योजना और तैयारी दिखाता है।"

 

जर्मन अखबार डाइ वेल्ट ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि हमलावर ने इंटरनेट पर 10 पन्नों के दस्तावेज में हमले की पूरी योजना साझा की थी। इसमें हाले शहर में यहूदी उपासना स्थल सिनेगॉग पर, पवित्र दिन योम किप्पुर की प्रार्थना के दौरान हमले की योजना के बारे में लिखा था।

 

जर्मनी के मंत्री बोले- यहूदी विरोधी सोच से लड़ना होगा

जर्मनी के विदेश मंत्री हाइको मास ने ट्वीट किया, ''हमें अपने देश में यहूदी विरोधी भावना के खिलाफ लड़ना होगा। हमले में जान गंवाने वालों और घायलों के प्रति मेरी संवेदनाएं। कठिन समय में पुलिस ने अच्छा काम किया।'' हमले के बाद चांसलर एंजेला मर्केल बर्लिन में एक यहूदी प्रार्थना स्थल पहुंचीं और लोगों से मुलाकात की। दूसरी ओर, इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हमले को यूरोप में यहूदी विरोधी भावना की एक और उदाहरण करार दिया।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना