• Hindi News
  • International
  • If Jogging Is Wrong, The Shoe Will Alert In Real Time, Will Be Challenged By The Virtual Runner, Will Be Able To Hear The Coach Even Under Water

हाईटेक गैजेट:जॉगिंग गलत की तो रियल टाइम में शू अलर्ट करेगा, वर्चुअल रनर से मिलेगी चुनौती, पानी के अंदर भी कोच को सुन सकेंगे

वॉशिंगटन3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कामयाब एथलीट बनने में मदद करेगी पेशेवर की तरह ट्रेनिंग देने वाली स्पोर्टिंग टेक्नोलॉजी। कई लोग इसमें दिलचस्पी दिखा रहे हैं। - Dainik Bhaskar
कामयाब एथलीट बनने में मदद करेगी पेशेवर की तरह ट्रेनिंग देने वाली स्पोर्टिंग टेक्नोलॉजी। कई लोग इसमें दिलचस्पी दिखा रहे हैं।

कैसा लगेगा कि आप अकेले जॉगिंग करते हों और कंपीटिशन के लिए वर्चुअल पार्टनर मिल जाए। जूतों में लगे सेंसर आपको बताएं कि सही तरह से दौड़ भी रहे हैं या नहीं। या फिर स्विमिंग के दौरान पूल में ही आपको गलतियों के बारे में बता दिया जाए। कुछ ऐसे गैजेट लॉन्च हुए हैं जो पेशवर की तरह प्रशिक्षण देने के साथ गाइड और अलर्ट भी करते हैं। इन गैजेट की मदद से आप बेहतरीन एथलीट बन सकते हैं। जानिए आज के दौर के ये टेक गुरु किस तरह आपको महारथ दिला सकते हैं...

एक उपकरण से तीन वर्कआउट कर सकेंगे, रॉड के दोनों ओर वजन असमान तो अलर्ट मिलेगा

रनिंग कोच:
आईकाइनेसिस शू माउंट रनिंग कोच की तरह है। यह डिवाइस जूते की लैस में लगता है। यह रियल टाइम में यूजर को ऑडिबल मैसेज और वाइब्रेशन से अलर्ट करता रहता है कि सही दौड़ रहे हैं या नहीं। वहीं घोस्ट पेसर एआर रनिंग हेडसेट एक वर्चुअल अवतार बना देता है, जिससे लगता है कि आपके साथ कोई और भी दौड़ रहा है।

स्विमिंग गाइड:
तैरते समय निर्देश देने में समस्या होती है। सोनर टेक के जरिए स्विमर से ट्रेनर रेडियो टेक्नोलॉजी से बात कर सकते हैं। इसका एक हिस्सा वॉकी-टॉकी ट्रेनर के पास रहता है, दूसरा स्पीकर स्विमर के पास रहता है। इससे रीयल टाइम में निर्देश और फीडबैक स्विमर को मिलते रहते हैं। यह पानी के अंदर 3.5 फीट गहराई तक काम करता है।

हाइब्रिड वेट सिस्टम:
होम जिम में वर्कआउट के लिए डंबेल्स, बार बेल्स और प्लेट्स रहती हैं। पर हाइपरबेल सिस्टम में तीनों वर्कआउट कर सकते हैं। इसमें पॉलीमर क्लैंप का सेट, स्टील बारबेल और स्टील कैटलबेल हैंडल रहता है। इसके अलावा बारबेल के दोनों ओर वजन बराबर न हो तो कैलिब्रेक्स सिस्टम यूजर को बीप से अलर्ट करता है।

पंचिंग रोबोट:
पंचिग बैग के साथ प्रैक्टिस बराबरी का मुकाबला नहीं है, क्योंकि बैग पंच नहीं कर सकता। स्ट्राइक रोबोटिक सिस्टम बराबरी से लड़ता है। इस रोबो को दीवार पर लगाने के साथ हाइट एडजस्ट कर सकते हैं। वहीं बास्केटबॉल सीखने वालों के लिए स्मार्ट हूप है। कौशल में सुधार के साथ इसकी हाइट बढ़ती है, घेरा छोटा होता जाता है।

खबरें और भी हैं...