• Hindi News
  • International
  • Imran Adamant On Dharna In Islamabad; The Government Deployed The Army, Said If You Have The Guts Then Come And See

PAK में खूनखराबे का खतरा:इस्लामाबाद पहुंचे इमरान; खान समर्थकों ने पेड़ों में आग लगाई, पुलिस ने टियर गैस छोड़ी

इस्लामाबादएक महीने पहले

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान लॉन्ग मार्च के तहत इस्लामाबाद पहुंच गए। उनका दावा है कि जब तक इलेक्शन कमीशन और सरकार चुनावों की तारीख का ऐलान नहीं करते, तब तक वो यहां से नहीं हटेंगे। लाहौर में इमरान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़पें भी हुईं। पुलिस ने खान समर्थकों पर टियर गैस का इस्तेमाल किया। PTI के समर्थकों ने कई पेड़ों में यह कहते हु आग लगा दी कि इससे टियर गैस का असर कम हो जाएगा।

हालात बिगड़ते देख अब तक कथित तौर पर न्यूट्रल रहने वाली फौज भी एक्शन में आई। होम मिनिस्ट्री से बातचीत के बाद इस्लामाबाद के ज्यादातर हिस्सों में फौज और रेंजर तैनात हैं।

इमरान ने अपना लॉन्ग मार्च पेशावर से शुरू किया और यह इस्लामाबाद पहुंचेगा।
इमरान ने अपना लॉन्ग मार्च पेशावर से शुरू किया और यह इस्लामाबाद पहुंचेगा।

इमरान की धमकी
इमरान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) मांग कर रही है कि शाहबाज शरीफ के 13 पार्टियों की गठबंधन सरकार फौरन इस्तीफा दे। केयर टेकर सरकार बने और जल्द से जल्द चुनाव कराए जाएं। वैसे संसद का कार्यकाल अगले साल अगस्त तक है।

इमरान ने PTI की यूथ विंग, जिसे अटैक ब्रिगेड भी कहा जाता है, से कहा- अगर आपको रोका जाता है तो जरा भी न घबराएं। मैं आपके साथ हूं। हर मुश्किल से टकरा जाएं, नतीजा चाहे जो भी हो। अटैक ब्रिगेड का काम ही अटैक करना है। जो भी सामने आए, उसे हटा दें। तरीका चाहे जो आजमाना पड़े। इसकी फिक्र मत कीजिए।

गुजरांवाला में रैली के दौरान इमरान खान की पार्टी PTI के समर्थक।
गुजरांवाला में रैली के दौरान इमरान खान की पार्टी PTI के समर्थक।

सरकार भी तैयार
इमरान ने कुछ दिन पहले लॉन्ग मार्च का ऐलान किया था। तब सरकार चुप थी। इसकी वजह यह थी कि सरकार को यह भरोसा नहीं था कि ताकतवर फौज उसका साथ देगी या नहीं। सोमवार को होम मिनिस्टर राणा सनाउल्लाह ने कहा था- हमारे हाथ बांध दिए गए हैं। हम काम कैसे करेंगे? फिर मंगलवार सुबह कहा- हमें भरोसा दिलाया गया कि वो (फौज) हमारे साथ हैं। अब देखते हैं इमरान कैसे इस्लामाबाद के रेड जोन तक पहुंचते हैं। सरकार को खान जैसे आतंकियों को जवाब देना बहुत अच्छे से आता है।

मंगलवार को मीडिया से बातचीत के बाद पार्टी नेताओं के साथ इमरान खान।
मंगलवार को मीडिया से बातचीत के बाद पार्टी नेताओं के साथ इमरान खान।

फिर अमेरिकी साजिश का जिक्र
इमरान ने मंगलवार को फिर कहा- मेरी सरकार गिराने में अमेरिका का हाथ था। इन चोरों (शरीफ सरकार) ने मुल्क पर कब्जा किया है। मुझे उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट और फौज सच के साथ खड़े होंगे। फौज अब यह नहीं कह सकती कि वो न्यूट्रल है। न्यूट्रल तो जानवर होते हैं। मैं फिर कहता हूं कि हम जिहाद करने निकले हैं, सियासत तो बहुत दूर की बात है।

सोमवार रात लाहौर में पुलिस ने PTI नेताओं के ठिकानों पर रेड की थी। इस दौरान झड़प में एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत हो गई थी। इसके बाद ही फौज ने सरकार को एक्शन के लिए हरी झंडी दी थी। इसके पहले फौज सीधे तौर पर खान के दबाव में नजर आ रही थी।