पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • International
  • Imran Khan Sri Lanka Visit Update; Experts Advice To Pakistan Pakistan Prime Minister, Avoid Interfering SL Domestic Affairs

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इमरान को सलाह:पाकिस्तानी एक्सपर्ट्स बोले- श्रीलंका से सिर्फ आपसी रिश्तों पर फोकस करें इमरान, वहां दखलंदाजी की कोशिश न करें

कोलंबो2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बुधवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे से मुलाकात के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान। - Dainik Bhaskar
बुधवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे से मुलाकात के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान दो दिन के दौरे पर श्रीलंका में हैं। पहले दिन उन्होंने राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे और प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे से मुलाकात की। इमरान जब कोलंबो एयरपोर्ट से अपने होटल संग्रीला पहुंचे तो यहां के मुस्लिम समुदाय ने श्रीलंका सरकार के विरोध में नारेबाजी की। ये लोग चाहते थे कि राजपक्षे सरकार श्रीलंका के मुस्लिम नेताओं को इमरान से मिलने की मंजूरी दे। इमरान ने एक महीने पहले श्रीलंका के मुस्लिम समुदाय के पक्ष में बयानबाजी की थी।

बहरहाल, ‘अरब न्यूज’ से बातचीत में पाकिस्तान के फॉरेन पॉलिसी एक्सपर्ट्स ने इस दौरे पर इमरान को सावधान रहने की सलाह दी। इनके मुताबिक, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को श्रीलंका के घरेलू मामलों में दखल से बचना चाहिए। उन्हें सिर्फ आपसी रिश्तों पर फोकस करना चाहिए।

बौद्धों और मुस्लिमों में टकराव
श्रीलंका की आबादी करीब 2 करोड़ 20 लाख है। इसमें से 10% मुस्लिम हैं। कई सालों से कुछ मुद्दों पर बहुसंख्यक सिंहली समुदाय और मुस्लिमों के बीच तनाव रहा। 2019 में ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में सीरियल ब्लास्ट हुए। इनमें 250 लोगों की मौत हुई। जांच के बाद कुछ स्थानीय मुस्लिमों को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद से मुस्लिम समुदाय की दिक्कतें बहुत ज्यादा बढ़ गईं।

रिपोर्ट के मुताबिक, बौद्धों के कट्टरपंथी संगठन बोदू बाला सेना (BBS) ने मुस्लिमों पर दबाव बनाना शुरू कर दिया। मस्जिदों में जानवरों की कुर्बानी बंद करने की मांग यहां जोर पकड़ रही है।

इमरान पहले ही गलती कर चुके हैं
पिछले साल अप्रैल में श्रीलंका सरकार ने एक आदेश जारी किया। इसमें कहा गया- कोविड-19 से मरने वालों का दाह संस्कार किया जाएगा, फिर चाहे उसका ताल्लुक किसी भी मजहब से हो। मुस्लिमों ने इसका विरोध किया और कहा कि यह उनके मजहब के खिलाफ है। 9 फरवरी को शव दफनाने की मंजूरी मिली। इमरान ने शव जलाने का विरोध किया था। इसे श्रीलंका सरकार ने अपने अंदरूनी मामलों में दखल माना था।

माना जा रहा है कि श्रीलंकाई सरकार ने इसीलिए इमरान के संसद में भाषण और मुस्लिम नेताओं से बातचीत के कार्यक्रम को रद्द कर दिया। पाकिस्तानी मीडिया के एक हिस्से ने इसे पाकिस्तान का अपमान करार दिया।

एक्सपर्ट्स की राय अलग
पाकिस्तान के फॉरेन पॉलिसी एक्सपर्ट्स और जर्नलिस्ट जफर जैस्पल ने खान को सलाह दी है। ‘अरब न्यूज’ से बातचीत में जफर ने कहा- इमरान को यह समझना होगा कि वे किसी मुस्लिम देश या इनके मंच पर नहीं हैं। श्रीलंका में सिंहली समुदाय की आबादी काफी ज्यादा है और वे बहुसंख्यक हैं। इनका मुस्लिमों से विवाद चल रहा है। पाकिस्तान ने हमेशा सिंहलियों का समर्थन किया है। इमरान को यह पॉलिसी बदलने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। यही उनके और पाकिस्तान के सबसे बेहतर रास्ता होगा। वहां के अंदरूनी मामलों में दखल देना भारी पड़ सकता है।

पाकिस्तान के पूर्व फॉरेन सेक्रेटरी रियाज खोखर ने कहा- दोनों देशों के पुराने रिश्ते हैं और ये बहुत जरूरी हैं। हमने पहले श्रीलंका की मदद की है। इमरान को चाहिए कि वे सिर्फ आपसी रिश्तों की बात करें, कोई दूसरा मुद्दा उठाना मुश्किलें बढ़ा सकता है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

और पढ़ें