• Hindi News
  • International
  • In Myanmar, The Army Entered The House And Shot A 7 year old Girl Sitting On Her Father's Lap, 20 Children Died So Far

तख्तापलट के खिलाफ प्रदर्शन पर क्रूर कार्रवाई:म्यांमार में सेना ने घर में घुसकर पिता की गोद में बैठी 7 साल की बच्ची को गोली मारी; अब तक 20 बच्चों की मौत

यांगून7 महीने पहले
मांडले शहर में सेना ने पिता की गोद में बैठी 7 साल की मासूम को गोली मार दी। पुलिस की गोली से मरने वाली खिन मायो चित सबसे कम उम्र की पीड़ित है। (फाइल फोटो)

म्यांमार में तख्तापलट के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों के दमन में लगी सेना ने एक और क्रूर कार्रवाई की है। मांडले शहर में सेना ने पिता की गोद में बैठी 7 साल की मासूम को गोली मार दी। पुलिस की गोली से मरने वाली खिन मायो चित सबसे कम उम्र की पीड़ित है।

मृतका के पड़ोसी सुमाया ने बताया, "पुलिस मंगलवार को प्रदर्शनकारियों की तलाश कर रही थी। कुछ पुलिस वाले आए और लात मारकर खिन के घर का दरवाजा खटखटाने लगे।खिन की बड़ी बहन ने दरवाजा खोला तो जवान घर में घुस गए। पूछने लगे, पापा के अलावा घर में कौन है?

बहन ने कहा- कोई नहीं। तब पुलिसकर्मी ने उसे झूठा बताकर पीटा। यह देख सामने खड़ी खिन डरकर घर में मौजूद पिता की गोद में बैठ गई। तब पीछे से आए पुलिसवालों ने पिता पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं, जो गलती से बच्ची को लग गईं। उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया।' बता दें कि अब तक सेना की गोलीबारी में 20 बच्चाें की जानें जा चुकी हैं।

खबरें और भी हैं...