• Hindi News
  • International
  • In The World's Coldest Province, Siberia, The Heat Broke The 120 year Record, The Temperature Reached 48 Degrees; The Temperature Here Remains Minus 11 Degrees In June.

आर्कटिक से चली लू ने बढ़ाई गर्मी:दुनिया के सबसे ठंडे प्रांत साइबेरिया में गर्मी ने 120 साल का रिकॉर्ड तोड़ा, 48 डिग्री पहुंचा तापमान; जून में यहां माइनस 11 डिग्री रहता है तापमान

मॉस्को4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तस्वीर आर्कटिक के स्पर्ट आइलैंड की है। जहां गर्मी का पता लगाने और शोध के लिए रूसी वैज्ञानिकों की टीम पहुंची है। - Dainik Bhaskar
तस्वीर आर्कटिक के स्पर्ट आइलैंड की है। जहां गर्मी का पता लगाने और शोध के लिए रूसी वैज्ञानिकों की टीम पहुंची है।

रूस का साइबेरिया प्रांत... जून में यहां का औसत तापमान माइनस 11 डिग्री रहता है। लेकिन इस साल यहां गर्मी ने 120 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। आर्कटिक की ओर चली गर्म हवाओं के कारण तापमान 48 डिग्री तक पहुंच गया है। यूरोपियन यूनियन अर्थ ऑब्जर्वेशन प्रोग्राम के मुताबिक, गुरुवार को साइबेरिया का वर्कोजैंक्स्क शहर सबसे गर्म रहा। यहां का तापमान 48 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

यहां इतनी गर्मी थी कि बाहर निकलने पर लोगों की त्वचा जल रही थी। वहीं, गर्मी से बचने के लिए शहर में पानी का छिड़काव हो रहा है। जगह-जगह शावर लगाए गए हैं। 3.90 करोड़ की आबादी वाले साइबेरिया में लोगों को घरों में रहने की सलाह दी गई है। विशेषज्ञों का कहना है कि जलवायु परिवर्तन रूस को प्रभावित कर रहा है। पूरी दुनिया के मुकाबले रूस 2.5 गुना तेजी से गर्म हो रहा है।

आर्कटिक क्षेत्र के जंगलों में लगी आग से पिघल रहे हिमखंड

वर्ल्ड मीटियोरोलॉजी के मुताबिक, यदि हमने जलवायु परिवर्तन को लेकर उचित प्रयास नहीं किए तो दुनिया में बाढ़, सूखा और तूफानों की संख्या बढ़ सकती है। इस बेहद गर्म तापमान के चलते आर्कटिक क्षेत्र के जंगलों में आग भी लग रही है। जिससे आर्कटिक क्षेत्र के विशाल हिमखंड भी तेजी से पिघलने लगे हैं।

खबरें और भी हैं...