• Hindi News
  • International
  • India Britain Vaccine News Update| Indians Who Get Coveshield Will Not Have To Be Quarantined If They Go To UK From October 11

ब्रिटिश सरकार ने बदला नियम:कोवीशील्ड लगवाने वाले भारतीयों को 11 अक्टूबर से ब्रिटेन जाने पर क्वारैंटाइन नहीं होना पड़ेगा

नई दिल्ली16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भारत और ब्रिटेन के बीच क्वारैंटाइन रूल्स को लेकर चल रही तनातनी खत्म होने के संभावना है। गुरुवार को भारत में ब्रिटेन के हाई कमिश्नर ने कहा- भारत से ब्रिटेन जाने वाले लोगों को 11 अक्टूबर के बाद वहां क्वारैंटाइन में नहीं रहना होगा। हालांकि, इन लोगों को कोवीशील्ड या किसी दूसरे ब्रांड से (जिसे ब्रिटेन ने अप्रूव किया हो) वैक्सीनेटेड होना जरूरी होगा।

इससे पहले ब्रिटेन सरकार ने कहा था कि जो लोग भारत से ब्रिटेन आ रहे हैं और उन्होंने कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज डोज लिए हों, तब भी उन्हें वैक्सीन न लेने वालों की तरह 10 दिन क्वारैंटाइन होना पड़ेगा और टेस्ट कराने होंगे। इस कदम की भारत में काफी आलोचना हुई थी। भारत ने भी इसके जवाब में ब्रिटेन से आने वालों के लिए 10 दिन का क्वारैंटाइन और कोरोना टेस्ट जरूरी कर दिया था।

भारत ने पिछले हफ्ते दी थी चेतावनी
24 सितंबर को भारत सरकार ने कहा था कि हम ब्रिटेन को उसी अंदाज में जवाब दे सकते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया था कि दोनों देशों की सरकारें आपस में बात कर रही हैं। उन्होंने भारतीय यात्रियों पर लगे प्रतिबंधों को भेदभावपूर्ण बताया था।

जवाबी कार्रवाई के बाद ढीला पड़ा ब्रिटेन
भारतीय यात्रियों पर ब्रिटेन में जारी कोरोना प्रतिबंध का भारत ने भी करारा जवाब दिया था। नए नियमों के मुताबिक, ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों को भारत में 10 दिन आइसोलेट होना पड़ेगा। सरकार ने 1 अक्टूबर को यह आदेश जारी किया था। इसके अलावा UK के लोगों को RTPCR टेस्ट भी कराना अनिवार्य कर दिया गया।

आदेश के मुताबिक यात्री को वैक्सीन के डोज लगे होने के बाद भी टेस्ट कराना ही होगा। ट्रैवलर्स को यात्रा शुरू करने से 72 घंटे पहले तक और आगमन के 8 दिन बाद RTPCR टेस्ट कराना जरूरी होगा। यह आदेश आगामी 4 अक्टूबर से लागू किया गया।

आदेश जारी होने के कुछ समय बाद ही ब्रिटेन ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। भारत में ब्रिटिश हाई कमीशन के प्रवक्ता ने कहा कि ब्रिटेन सरकार भारत में लगी वैक्सीन को मान्यता देने के तकनीकी पहलुओं पर भारत सरकार से बात कर रही है।

ब्रिटेन ने भारत के वैक्सीन सर्टिफिकेट पर उठाए थे सवाल
ब्रिटेन ने भी कोवीशील्ड को मान्यता तो दे दी, लेकिन भारतीयों के लिए कुछ शर्तें जोड़ दीं। इस पर भारत ने नाराजगी भी जताई थी। नए नियमों के मुताबिक, कोवीशील्ड वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके भारतीयों को ब्रिटेन पहुंचने पर अब भी 10 दिन क्वारैंटाइन रहना पड़ेगा और टेस्ट भी कराने पड़ेंगे। भारतीय नागरिकों ने ब्रिटेन के इस निर्णय को नस्लीय बताया था। इसके जवाब में ब्रिटेन ने कहा था कि उन्हें कोवीशील्ड लगवाने वालों से कोई परेशानी नहीं है। वे भारत के वैक्सीन सर्टिफिकेट पर भरोसा नहीं कर सकते।