--Advertisement--

अमेरिका / ट्रम्प की धमकी, कहा- रूस से एस-400 मिसाइल सिस्टम की डील भारत को पड़ेगी भारी



अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत को धमकी दी। (फाइल) अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत को धमकी दी। (फाइल)
एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील को लेकर ट्रम्प ने नाराजगी जताई। (फाइल) एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील को लेकर ट्रम्प ने नाराजगी जताई। (फाइल)
5 अक्टूबर को भारत आए थे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन। (फाइल) 5 अक्टूबर को भारत आए थे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन। (फाइल)
मिसाइल डील के बाद पुतिन ने पीएम मोदी को गले लगा लिया था। (फाइल) मिसाइल डील के बाद पुतिन ने पीएम मोदी को गले लगा लिया था। (फाइल)
X
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत को धमकी दी। (फाइल)अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत को धमकी दी। (फाइल)
एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील को लेकर ट्रम्प ने नाराजगी जताई। (फाइल)एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील को लेकर ट्रम्प ने नाराजगी जताई। (फाइल)
5 अक्टूबर को भारत आए थे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन। (फाइल)5 अक्टूबर को भारत आए थे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन। (फाइल)
मिसाइल डील के बाद पुतिन ने पीएम मोदी को गले लगा लिया था। (फाइल)मिसाइल डील के बाद पुतिन ने पीएम मोदी को गले लगा लिया था। (फाइल)

  • अमेरिकी राष्ट्रपति ने अमेरिकी एक्ट ‘काटसा’ के तहत कार्रवाई करने की बात कही
  • रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पिछले हफ्ते भारत आए थे, तब 40 हजार करोड़ रुपए की डील हुई

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2018, 09:22 AM IST

वॉशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बुधवार को कहा कि रूस से एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील करके भारत ने बड़ी गलती की। यह अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शंस एक्ट (काटसा) का उल्लंघन है, जिसका परिणाम भारत को भुगतना पड़ेगा।

दिल्ली में हुई थी रूस से डील

  1. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पिछले सप्ताह भारत आए थे। इस दौरान दोनों देशों के बीच एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील फाइनल हुई थी। इसे लेकर ट्रम्प ने कहा कि भारत को इसका नतीजा जल्द पता चल जाएगा। आप भी जल्द ही देखेंगे।

  2. ‘भारत को छूट मिलना आसान नहीं’

    ट्रम्प ने यह भी कहा कि ईरान से 4 नवंबर के बाद तेल आयात जारी रखने वाले देशों को भी अमेरिका की नाराजगी का सामना करना पड़ेगा। रक्षा विशेषज्ञों ने आशंका जताई थी कि रूस से मिसाइल डील के बाद भारत को काटसा के तहत अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है।

  3. अमेरिका में मौजूद ‘‘फ्रेंड्स ऑफ इंडिया’’ को उम्मीद है कि राष्ट्रपति ट्रम्प भारत को छूट दे सकते हैं, क्योंकि वे भारत को महत्वपूर्ण रक्षा साझेदार मानते हैं। काटसा के तहत रूस से मिसाइल डील पर भारत को अमेरिकी प्रतिबंधों से छूट देने का अधिकार सिर्फ ट्रम्प के पास है।

  4. चीन पर प्रतिबंध लगा चुका है अमेरिका

    अमेरिका ने हाल ही में काटसा का इस्तेमाल करके चीन की रक्षा कंपनियों पर प्रतिबंध लगाए थे। वहीं, सूत्रों का कहना है कि रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस और विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने काटसा के तहत भारत को छूट देने पर जोर दिया है। 

  5. ‘काटसा’ ट्रम्प प्रशासन को आर्थिक और राजनीतिक प्रतिबंधों के माध्यम से रूस, ईरान और उत्तर कोरिया को निशाना बनाने की ताकत देता है। इसके तहत रूस, ईरान और उत्तरी कोरिया से व्यापार सौदे करने वाले देशों को काटसा के तहत अमेरिकी प्रतिबंध का सामना करना पड़ता है।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..