• Hindi News
  • International
  • India US | Indian American Professor Asheen Phansey Suspended After Joke Over Iran List US Cultural Sites to Bomb

अमेरिका / भारतवंशी प्रोफेसर ने मजाक में कहा- ईरान को भी हमले के लिए 52 ठिकाने चुन लेने चाहिए; कॉलेज ने नौकरी से निकाला

प्रोफेसर ने कहा-  मुझे उम्मीद थी कि कॉलेज स्वतंत्र रूप से बोलने के अधिकार को समझेगा। -फाइल फोटो प्रोफेसर ने कहा- मुझे उम्मीद थी कि कॉलेज स्वतंत्र रूप से बोलने के अधिकार को समझेगा। -फाइल फोटो
X
प्रोफेसर ने कहा-  मुझे उम्मीद थी कि कॉलेज स्वतंत्र रूप से बोलने के अधिकार को समझेगा। -फाइल फोटोप्रोफेसर ने कहा- मुझे उम्मीद थी कि कॉलेज स्वतंत्र रूप से बोलने के अधिकार को समझेगा। -फाइल फोटो

  • प्रोफेसर ने कहा- लोगों ने मेरे पोस्ट को गलत तरीके से लिया, कॉलेज ने कहा- वह हमले या धमकी भरे शब्दों की निंदा करता है
  • कुछ दिनों पहले राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा था- हमारे निशाने पर ईरान के 52 ठिकानें हैं, जिनमें सांस्कृतिक स्थल भी हैं

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2020, 01:43 PM IST

न्यूयॉर्क.  अमेरिका-ईरान संकट पर मजाक करना एक भारतवंशी प्रोफेसर को महंगा पड़ा। कॉलेज प्रशासन ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया। प्रोफेसर आशीव फांसे ने फेसबुक पर लिखा कि ईरान को भी अमेरिका में हमले के लिए 52 ठिकाने चुन लेने चाहिए। उन्होंने कुछ जगहों के नाम भी बताए। इस मजाक के लिए बैबसॉन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर को नौकरी से निकाल दिया गया।

डब्ल्यूबीजेड टेलीविजन के अनुसार, कॉलेज प्रशासन ने कहा- अशीन फांसे द्वारा किया गया फेसबुक पोस्ट हमारे मूल्यों और कॉलेज के संस्कृति के खिलाफ है। हालांकि, उन्होंने 8 जनवरी को पोस्ट के लिए माफी मांग ली थी और कहा कि उन्होंने मजाक में ऐसा लिखा था। उनके फेसबुक पोस्ट को लोगों ने एक खतरे के रूप में देखा।

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा- हम नियम के तहत हमले का जवाब देंगे

कुछ दिनों पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ट्वीट किया था- हमारे निशाने पर ईरान के 52 जगहें हैं, इनमें सांस्कृतिक स्थल भी शामिल हैं। अगर वह हमारे लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई करता है तो हम उनपर जोरदार हमला करेंगे। ट्रम्प के जवाब में अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि वॉशिंगटन सांस्कृतिक स्थलों को निशाना नहीं बनाएगा। हम कानून के तहत ही जवाब देंगे। युद्ध के दौरान सांस्कृतिक स्थलों को नुकसान पहुंचाना अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत वॉर क्राइम है।

आशीन ने फेसबुक पर लिखा कि ईरान को भी अमेरिका के 52 स्थलों का चुनाव कर लेना चाहिए। इनमें मिनिसोटा में मॉल ऑफ अमेरिका या अमेरिकन सेलेब्रिटी किम कार्दाशियां का घर शामिल होना चाहिए। 

मेरे मजाक को लोगों ने गलत तरीके से लिया: आशीन

वह बॉबसन कॉलेज में सस्टेनेबेलिटी विभाग के निदेशक थे। बॉबसन कॉलेज वेलेस्ली में है, जो बॉस्टन से 20 किमी की दूरी पर है। उन्होंने कहा कि लोगों ने मेरे मजाक को गलत तरीके से लिया। मुझे उम्मीद थी कि कॉलेज मेरा साथ देगा और स्वतंत्र रूप से बोलने के अधिकार को समझेगा। हालांकि, कॉलेज ने कहा कि वह किसी भी तरह के हमले या धमकी भरे शब्दों की निंदा करता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना