• Hindi News
  • International
  • US Iran Tension Qassem Soleimani | Iran America Latest News Updates Over US Iran conflict: House of Representatives On President Donald Trump after Qassem Soleimani killing

अमेरिका / ट्रम्प ईरान के खिलाफ जंग का ऐलान न कर सकें, इसके लिए हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में प्रस्ताव पास

हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने ही सदन में ट्रम्प के खिलाफ प्रस्ताव पेश किया। हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने ही सदन में ट्रम्प के खिलाफ प्रस्ताव पेश किया।
X
हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने ही सदन में ट्रम्प के खिलाफ प्रस्ताव पेश किया।हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने ही सदन में ट्रम्प के खिलाफ प्रस्ताव पेश किया।

  • ट्रम्प ने संसद को बिना जानकारी दिए ही ईरान के कमांडर जनरल सुलेमानी पर ड्रोन हमले की इजाजत दी थी
  • निचले सदन की स्पीकर पेलोसी ने ट्रम्प की ईरान के खिलाफ जंग के ऐलान की ताकत सीमित करने के लिए यह वोटिंग कराई
  • हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में डेमोक्रेट्स के बहुमत की वजह से प्रस्ताव पारित, उच्च सदन में इसके पास होने की उम्मीद कम

Dainik Bhaskar

Jan 10, 2020, 10:06 AM IST

वॉशिंगटन. अमेरिकी संसद (कांग्रेस) के निचले सदन- हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में गुरुवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की युद्ध के ऐलान से जुड़ी ताकतें सीमित करने के प्रस्ताव पर वोटिंग हुई। डेमोक्रेट के बहुमत वाले सदन में प्रस्ताव आसानी से पास हुआ। इसके पक्ष में 224 वोट पड़े, जबकि विपक्ष में 194 वोट डाले गए। अब यह प्रस्ताव उच्च सदन- सीनेट में भेजा जाएगा। रिपब्लिकन के बहुमत वाले सीनेट में इस प्रस्ताव का पास होना मुश्किल माना जा रहा है। 

प्रस्ताव में क्या कहा गया?
निचले सदन (हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स) की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने कहा था कि वे ट्रम्प की ईरान के खिलाफ युद्ध के ऐलान की ताकत सीमित करना चाहती हैं। अगर दोनों सदनों में यह प्रस्ताव पास होता है, तो राष्ट्रपति बिना कांग्रेस की अनुमति के युद्ध का ऐलान नहीं कर पाएंगे। पेलोसी का यह बयान ट्रम्प की उस अहम प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद आया, जिसमें उन्होंने घोषणा की थी कि वे ईरान के खिलाफ सैन्य तनाव कम करने के लिए जरूरी कदम उठाएंगे।

डेमोक्रेट नेता ट्रम्प प्रशासन के कदमों को लेकर अभी भी आशंकित हैं। ट्रम्प ने इससे पहले संसद को बिना जानकारी दिए ही इराक में ईरान के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी पर ड्रोन हमले की इजाजत दे दी थी। इसके चलते अमेरिका-ईरान के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया था।

प्रस्ताव को सीनेट में पास कराना बड़ी चुनौती
डेमोक्रेट सांसदों के मुताबिक, ट्रम्प के लिए गुरुवार का प्रस्ताव अहम साबित होने वाला है। इसके जरिए ट्रम्प को ईरान के खिलाफ सभी सैन्य कार्रवाईयां रोकने के लिए मजबूर होना पड़ सकता है। इसके बाद वे ईरान के खिलाफ तब तक कोई फैसला नहीं ले सकते, जब तक कांग्रेस इसकी इजाजत नहीं दे देती। हालांकि, इस प्रस्ताव को सीनेट में पास कराना बड़ी चुनौती होगी। वहां रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है।

ईरान पर हमला करने के ट्रम्प के फैसले से चिंतित कांग्रेस 
पेलोसी ने बयान जारी कर कहा, “कांग्रेस के सदस्यों ने ट्रम्प प्रशासन के ईरान के साथ सीधे टक्कर लेने के फैसले पर चिंता जाहिर की है। साथ ही हमारी आगे की कमजोर तैयारियों पर भी सवाल उठाए गए हैं। हमारी चिंताओं के बारे में राष्ट्रपति और उनके प्रशासन की तरफ से कोई सफाई नहीं जारी की गई। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना