ट्रम्प का दावा- अमेरिकी सेना से घिरने के बाद आईएस सरगना बगदादी ने खुद को उड़ाया

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आईएस सरगना अबु बकर अल-बगदादी (फाइल फोटो)। - Dainik Bhaskar
आईएस सरगना अबु बकर अल-बगदादी (फाइल फोटो)।
  • ट्रम्प ने कहा- बगदादी डरपोकों की तरह मारा गया, आत्मघाती ब्लास्ट में उसके 3 बच्चों की भी मौत हुई
  • आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के सरगना अबु बकर अल-बगदादी ने 2014 में खुद को इराक और सीरिया का खलीफा घोषित किया था
  • अमेरिका ने बगदादी पर 2.5 करोड़ डॉलर का इनाम रखा था, 2014 के बाद कई बार उसके मारे जाने की खबरें आईं

वॉशिंगटन. अमेरिकी सेना से घिरने के बाद आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) सरगना अबु बकर अल-बगदादी ने खुद को ही उड़ा लिया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने टीवी पर लाइव प्रसारण के दौरान बगदादी की मौत की पुष्टि की। ट्रम्प ने ऑपरेशन में शामिल सैनिकों की तारीफ करते हुए कहा कि हमारा मिशन शानदार तरीके से पूरा हुआ। बगदादी अमेरिकी ताकत के डर से चीखते-चिल्लाते हुए मारा गया। उसके साथ आईएस के कुछ और आतंकी भी मारे गए।
 

बगदादी ने सुरंग में खुद को ब्लास्ट से उड़ाया
अमेरिकी राष्ट्रपति ने बताया कि बगदादी ने सेना आते देख अपने ठिकाने के नीचे खुदी सुरंग से भागने की कोशिश की। उसने साथ में अपने तीन बच्चों को भी ले लिया। इस दौरान सैनिकों और मिलिट्री कुत्तों ने उसका पीछा किया। सुरंग में जब उसे रास्ता नहीं मिला, तो उसने खुद की आत्मघाती जैकेट को ब्लास्ट कर लिया। इसमें उसकी और उसके तीनों बच्चों की मौत हो गई। ट्रम्प ने कहा कि विस्फोट में बगदादी का शरीर क्षत-विक्षत हो गया, लेकिन टेस्ट से उसकी पहचान कर ली गई।
 

इदलिब प्रांत में अमेरिकी सेना का ऑपरेशन
ट्रम्प ने बताया कि बगदादी को मारने के लिए सीरिया के इदलिब प्रांत में मिलिट्री हेलिकॉप्टर, विमानों और ड्रोन्स के कवर में स्पेशल फोर्सेज को जमीन पर उतारा गया। इसके बाद सैनिकों ने आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की। ट्रम्प ने हाल ही में आईएस के खिलाफ कार्रवाई को मंजूरी दी थी।
 

ट्वीट में दिए थे बगदादी के मारे जाने के संकेत
इससे पहले उन्होंने शनिवार रात ट्वीट किया था कि सीरिया में कुछ बड़ा हुआ है। हालांकि, तब उन्होंने यह नहीं बताया कि वे किस बार में ऐसा कह रहे हैं। इसके ठीक बाद ही व्हाइट हाउस ने ऐलान किया कि ट्रम्प कुछ बड़ा ऐलान कर सकते हैं। 
 

बगदादी ने 2014 में खुद को खलीफा घोषित किया था
बगदादी को 2014 में एक मस्जिद में देखा गया था। तब भाषण देते हुए उसने खुद को इराक और सीरिया का खलीफा घोषित किया था। इराक-सीरिया में अमेरिका और उसकी सहयोगी सेनाओं ने आईएस के आतंकियों से लंबी लड़ाई लड़ी। अमेरिका ने उस पर 2.5 करोड़ डॉलर (177 करोड़ रुपए) का इनाम रखा था। संयुक्त सेना की कार्रवाई में कई बार बगदादी के मारे जाने की खबरें आईं। लेकिन इन खबरों की पुष्टि नहीं हो सकी। 
 

इस साल वीडियो जारी कर ली थी श्रीलंका हमलों की जिम्मेदारी
श्रीलंका के क्राइस्टचर्च में 21 अप्रैल को हुए धमाकों में 253 लोग मारे गए थे। इसके बाद आईएस ने बगदादी का एक वीडियो जारी किया था। इसमें उसे श्रीलंका हमलों की जिम्मेदारी लेते दिखाया गया था। वीडियाे में बगदादी कहता है, यह लड़ाई अब खत्म हाे चुकी है। इसके बाद और लड़ाई आने वाली हैं, जो दुश्मन के खिलाफ कयामत तक जारी रहेंगी। 
 
 

खबरें और भी हैं...