PAK भी अजब है:इमरान के मजहबी मामलों के एडवाइजर बोले- पुरुष भी बहुत खूबसूरत, विज्ञापनों में महिलाओं की जरूरत क्या है

इस्लामाबाद9 महीने पहले

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मजहबी मामलों में सलाह देने के लिए भी एक एडवाइजर यानी सलाहकार रखा हुआ है। इन महाशय का नाम है मौलाना ताहिर अशरफी। कुछ लोग इन्हें ‘मौलाना टुन्न’ भी कहते हैं। ऐसा क्यों, ये हम आपको बाद में बताएंगे। यहां बात मौलाना अशरफी के नए बयान की। इसके बाद उनका जमकर मजाक उड़ रहा है। मुल्ला अशरफी ने सोमवार को कहा- हमारे मुल्क में पुरुष भी बहुत खूबसूरत हैं। कंपनियां एड (विज्ञापन) के लिए इनका इस्तेमाल क्यों नहीं करतीं। क्यों सिर्फ महिलाओं को ही तवज्जो दी जाती है।

महिलाओं से दिक्कत
पाकिस्तान के अखबार ‘द न्यूज’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, लाहौर में मीडिया से बातचीत में मौलाना अशरफी ने इस बात पर गहरी नाराजगी जताई कि विज्ञापनों में महिलाओं को ही तवज्जो दी जाती है। अशरफी ने कहा- मेरी समझ में यह नहीं आता कि हमारे मुल्क में बहुत खूबसूरत मर्द मौजूद हैं, इसके बावजूद विज्ञापनों में मोहतरमाओं को तरजीह क्यों दी जाती है। आखिर मर्दों में क्या कमी है। कंपनियां हर मामले में महिलाओं को ही हायर करती हैं और उनको ही विज्ञापनों में काम दिया जाता है।

औरतों को तवज्जो देने की क्या जरूरत
मौलाना विज्ञापनों में महिलाओं को दिखाने और उन्हें तरजीह देने के मुद्दे पर खासे खफा थे। उन्होंने कहा- जानबूझकर और बेमतलब ही ख्वातीन (महिलाओं) को विज्ञापनों में तरजीह दी जाती है। आखिर उन्हें इतना क्यों दिखाया जाता है। मैं इस तरह की हरकतों के सख्त खिलाफ हूं।

मौलाना ने प्रधानमंत्री इमरान खान के विजन को सराहा। कहा- दुनिया में इस्लामोफोबिया को लेकर कई तरह की बातें और चीजें हो रही हैं। हमारे वजीर-ए-आजम ने इसके खिलाफ मुहिम छेड़ी है और इसके अच्छे नतीजे सामने आ रहे हैं। अब जो लोग वेबसाइट्स पर इस्लाम के खिलाफ पोस्ट करेंगे, उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। उलेमाओं को मुल्क में अश्लीलता कम करने के लिए प्रयास करने चाहिए।

मौलाना टुन्न
मौलाना ताहिर अशरफी इमरान खान के 22 एडवाइजर्स में से एक हैं। मजहबी मामलों पर बनी कमेटी के हेड हैं और इमरान को मजहबी मामलों पर सलाह देते हैं। पाकिस्तानी मीडिया में कई लोग उन्हें मौलाना टुन्न भी कहते हैं। दरअसल, पिछले साल मौलाना ने जियो न्यूज को एक इंटरव्यू दिया था और उसमें वो शराब के नशे में नजर आ रहे थे। कुछ साल पहले लाहौर में भी उन्हें गाड़ी में शराब पीते हुए पकड़ा गया था। हालांकि, इसके बावजूद इमरान ने उन्हें रिलीजन अफेयर्स का एडवाइजर बना लिया।