इजराइल की बड़ी कामयाबी:एंटी बैलेस्टिक मिसाइल सिस्टम का टेस्ट सफल, फीचर्स सीक्रेट रखे- चंद दिन में तैनाती भी होगी

तेल अवीव5 महीने पहले

इजराइल ने मंगलवार को एक बहुत बड़ी कामयाबी हासिल की। उसकी डिफेंस मिनिस्ट्री के मुताबिक, एरो-3 एंटी बैलेस्टिक मिसाइल सिस्टम का आखिरी टेस्ट 100% कामयाब रहा। खास बात यह है कि टेस्ट के बारे में तो तमाम डीटेल दी गईं, लेकिन एरो-3 के एडवांस्ड फीचर्स के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। इन्हें सीक्रेट रखा गया है। इजराइली एयरफोर्स ने साफ कर दिया कि अगले चंद दिनों में ही एरो-3 एयरफोर्स को सौंप दिया जाएगा। इस डिफेंस सिस्टम को इजराइल और अमेरिकी डिफेंस एक्सपर्ट्स ने मिलकर तैयार किया है।

डिफेंस मिनिस्ट्री ने क्या कहा
डिफेंस मिनिस्ट्री में मिसाइल डिफेंस ऑर्गनाइजेशन के हेड मोशे पैटल ने कहा- हमने गजब की कामयाबी हासिल की है। ये इतनी बड़ी है कि हम इसे फौरन अपनी एयरफोर्स को सौंप रहे हैं।
एरो-3 का पहला टेस्ट फरवरी 2018 में किया गया था। माना जा रहा है कि 2008 के बाद दुनिया के किसी देश ने इतना अहम हथियार हासिल नहीं किया। शायद यही वजह है कि इजराइल और अमेरिका इसके एडवांस्ड फीचर्स को लेकर फिलहाल गोपनीयता बरत रहे हैं। इतनी जानकारी जरूर दी गई है कि यह एक साथ शॉर्ट, मीडियम और लॉन्ग रेंज की बैलेस्टिक मिसाइल्स को न सिर्फ डिटेक्ट कर लेगा, बल्कि उन्हें लॉन्चिंग पैड के करीब ही मार भी गिराएगा।

हर लिहाज से कामयाब टेस्ट
मोशे ने कहा- इस सिस्टम के हर हिस्से का टेस्ट जबरदस्त कामयाब रहा। डिटेक्शन, लॉन्चिंग और इंटरसेप्शन के मामले में यह लाजवाब सिस्टम है। अब इस क्षेत्र को टारगेट करना नामुमकिन जैसा होगा। यह तकनीकि तौर पर भी अनूठी सफलता है।

इजराइल एयरोस्पेस के सीईओ बोज लेवी ने कहा- यह पूरा सिस्टम एल्गोरिदम बेस्ड और बिल्कुल सटीक है। यह किसी भी आने वाले खतरे को फौरन पकड़ लेगा और इसकी जानकारी थिएटर कमांड को देगा। चंद सेकंड में जवाबी कार्रवाई से दुश्मन की मिसाइल को मार गिराया जाएगा। इससे ज्यादा मैं आपको नहीं बता सकता।

टेस्ट के दौरान क्या हुआ
डिफेंस मिनिस्ट्री ने कहा- यह एक लाइव टेस्ट था। हमारे सिस्टम में लगे राडार ने खतरे को पहचाना। इसका डेटा फायर मैनेजमेंट सिस्टम को भेजा। इसके बाद इंटरसेप्शन की तैयारी की गई। इसके बाद एरो-3 से निकली मिसाइलों ने टारगेट को खत्म कर दिया। खास बात यह है कि दोनों टारगेट अलग-अलग दिशाओं से आ रहे थे। इसके अलावा हम दो टारगेट को भी अलग-अलग दिशाओं से मार गिरा सकते हैं। अब इजराइल और अमेरिका एरो-4 डेवलप करने जा रहे हैं। इसका टेस्ट जल्द किया जाएगा। हाल के दिनों में ईरान ने कुछ मिसाइल टेस्ट किए हैं। इसके जवाब में इजराइल और अमेरिका ने एरो-3 का टेस्ट किया है।