इजराइल की गाजा पर फिर एयरस्ट्राइक:IAF ने हमास के मिलिट्री कंपाउंड में बम गिराए, बैलून अटैक के जवाब में एक्शन लिया

यरुशलम3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चार महीने पहले हुए सीजफायर के बाद भी इजराइल और हमास के लड़ाकों के बीच लड़ाई रुकती दिखाई नहीं दे रही है। हमास के लड़ाके रुक-रुककर इजराइल पर बैलून बम गिराते रहते हैं, जिससे इजराइल को काफी नुकसान होता है। ऐसे ही एक बैलून अटैक के बाद इजराइल ने सोमवार रात गाजा पर हवाई हमला किया।

यह हमला फिलिस्तीन की तरफ आग लगाने वाले गुब्बारों के लॉन्च होने के बाद किया गया। इजराइली आर्मी ने गुब्बारों के लिए हमास को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि हमने आतंकवादी समूह के ठिकानों पर हमला किया है।

इजराइली डिफेंस फोर्स ने इस बात की पुष्टि की है कि उनके फाइटर जेट्स ने खान यूनिस में हमास की राकेट बनाने वाली साइट और मिलिट्री कंपाउंट पर बम गिराया है। बयान में कहा गया कि इजराइली इलाके में आग लगाने वाले गुब्बारे लॉन्च करने के जवाब में यह कार्रवाई की गई।

एक चश्मदीद के मुताबिक, आर्मी ने उत्तरी गाजा में भी तोप के गोले भी दागे। हालांकि, हमले में किसी के मारे जाने की खबर नहीं मिली है। इजराइली फायर फाइटर्स ने बताया कि आग लगाने वाले गुब्बारों ने गाजा पट्टी के करीब साइटों पर तीन झाड़ियों में आग लगा दी थी।

इजराइल की जेल से भागे 6 फिलिस्तीनी कैदी
ऐसी डिवाइसों के जरिए इजराइल पर हमला करना गाजा में आतंकवादियों की एक आम रणनीति है। इजराइल करीब 15 सालों से इस तरीके के हमलों का सामना कर रहा है। बता दें कि सोमवार को 6 फिलिस्तीनी कैदी इजराइल की हाई सिक्योरिटी गिल्बोआ जेल से सुरंग के रास्ते फरार हो गए, जिसके बाद इजराइल में बड़े पैमाने पर सर्च ऑपरेशन जारी है। इस घटना को इजराइल के सबसे बड़े जेलब्रेक में से एक माना जा रहा है।

मई में 11 दिन चला था युद्ध
मई में इजराइल और हमास के बीच 11 दिनों तक लड़ाई चली थी। उग्रवादियों ने इजराइल पर हजारों रॉकेटों से हमला किया था, जिसके बाद इजराइली जेट्स ने गाजा पर हमला किया। इस लड़ाई में 250 फिलिस्तीनी और 13 इजराइली मारे गए थे। मिस्र की मध्यस्थता के बाद इजराइल और हमास के बीच युद्धविराम हुआ था।

खबरें और भी हैं...