पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इजराइल अब मास्क फ्री:56% आबादी को वैक्सीनेट किया, घर के बाहर मास्क अब जरूरी नहीं; 8 महीने बाद सभी स्कूल और कॉलेज पूरी तरह खुले

यरूशलम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तेलअवीव में अब लोग बिना मास्क के सड़कों पर नजर आने लगे हैं। - Dainik Bhaskar
तेलअवीव में अब लोग बिना मास्क के सड़कों पर नजर आने लगे हैं।

कोरोना वायरस के खिलाफ इजराइल ने बहुत बड़ी कामयाबी हासिल की है। देश की 56% आबादी को यहां वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं। इसके बाद घर से बाहर मास्क लगाने का नियम भी वापस ले लिया गया है। देश के सभी स्कूल और कॉलेज अब फुल स्ट्रैन्थ के साथ पूरी तरह खोल दिए गए हैं। हालांकि, कोविड-19 के खिलाफ कुछ नियम अब भी जारी रखने का फैसला किया गया है। सोशल मीडिया पर इजराइली नागरिकों के कुछ वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिनमें वे मास्क हटाते नजर आ रहे हैं।

81% लोगों को पहला डोज लगा
इजराइल ने वैक्सीन मिलने के बाद 100 दिन में 50% आबादी को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य तय किया था। अब तक 56% लोगों को दोनों डोज, जबकि 81% लोगों को पहला डोज लगाया जा चुका है। 16 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन ड्राइव में शामिल किया गया है। न्यूयॉर्क टाइम्स से बातचीत में 35 साल की एली ब्लीच ने कहा- मैं बेहद खुश हूं कि अब खुली हवा में सांस ले पा रही हूं। उन्होंने भी मास्क हटाने का वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया है।

कुछ लोगों को मास्क की आदत हो गई है
कुछ इजराइली जहां मास्क की अनिवार्यता का नियम हटने से खुश हैं तो कुछ ऐसे भी हैं जो ये कहते कि उन्हें अब मास्क लगाने की आदत हो गई है। एक नागरिक ने कहा- मैं यह मानने को तैयार नहीं हूं कि महामारी खत्म हो गई है। हम मास्क लगाने के आदी हो चुके हैं। हो सकता है आने वाले वक्त में यह हमेशा एलर्जी से बचाए। इसलिए इसे लगाने में कोई बुराई नहीं है।

जनवरी में हर रोज यहां 10 हजार संक्रमित मिल रहे थे। अब यह संख्या 100 से भी कम हो गई है। विजमैन साइंस सेंटर के प्रोफेसर एर्न सीगल ने कहा- हमारे देश में 85% लोग या तो इस वायरस से उबर चुके हैं या हम उन्हें वैक्सीनेट कर चुके हैं।

कुछ नियम अब भी मानने होंगे
जिन लोगों को वैक्सीन लग चुके हैं, उन्हें इंडोर प्रोग्राम में हिस्सा लेने की मंजूरी होगी। वे रेस्टोरेंट्स और होटल्स में जा सकेंगे। लेकिन, इस दौरान मास्क जरूरी होगा। भारत में फैल रहे नए वैरिएंट को लेकर इजराइल सतर्क है। एक एक्सपर्ट का मानना है कि नए वैरिएंट्स पर नजर रखनी होगी क्योंकि इससे लोग फिर संक्रमित हो सकते हैं, हालांकि ये खतरनाक नहीं होगा।

खबरें और भी हैं...