• Hindi News
  • International
  • Israel Palestine Conflict May Rise As Jewish Activists Announced Plans For A March In Jerusalem

इजराइल में फिर हिंसा का खतरा:कट्टरपंथी यहूदी गुट इस हफ्ते यरूशलम में मार्च निकालेंगे; खुफिया प्रमुख ने अलर्ट जारी किया

तेल अवीवएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इजराइल के इंटरनल सिक्योरिटी एडवाइजर ने एक अलर्ट जारी किया है। इसके मुताबिक, देश के कुछ हिस्सों में यहूदी और अरब मूल के लोगों के बीच दंगे फिर भड़क सकते हैं। पिछले महीने इजराइल और हमास की जंग के दौरान इजराइल के सामने दोहरा संकट खड़ा हो गया था। तब भी इजराइल के कुछ शहरों में यहूदियों और अरब मूल के नागरिकों के बीच दंगे हुए थे। इजराइल में नेफ्टाली बेनेट की लीडरशिप में नई सरकार बनने जा रही है। हालांकि, इसकी शपथ का दिन अभी तय नहीं है। बेंजामिन नेतन्याहू अभी केयरटेकर प्राइममिनिस्टर हैं।

कट्टरपंथी मार्च निकालने की तैयारी में
‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ ने लोकल मीडिया के हवाले से बताया है कि यहूदी कट्टरपंथियों का एक समूह यरूशलम के उन हिस्सों से एक लंबा मार्च निकालने की तैयारी कर चुका है जहां ज्यादातर अरब मूल के फिलीस्तीनी नागरिक रहते हैं। माना जा रहा है कि यह मार्च शनिवार या रविवार को निकाला जा सकता है। बीते रविवार को इजराइली पुलिस ने दो फिलीस्तीनियों को गिरफ्तार किया था। इन पर आरोप है कि इन्होंने सोशल मीडिया और पर्चों के जरिए पूर्वी यरूशलम के मुद्दे पर लोगों को भड़काया। इसके बाद ही गाजा से इजराइल पर रॉकेट दागे गए थे। हमास और इजराइल की जंग 11 दिन चली थी।

भारी न पड़ जाए अस्थिरता
बेंजामिन नेतन्याहू को हटाने के लिए इजराइल की आठ विपक्षी पार्टियां एकजुट हुई हैं। राष्ट्रपति के आदेश के बाद नई सरकार शपथ लेगी। हालांकि, इस गठबंधन सरकार के बनने के पहले ही कई तरह के सवाल और मतभेद सामने आने लगे हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि इजराइल में कुछ तत्व इसका फायदा उठाने की कोशिश करेंगे। यही वजह है कि आंतरिक खुफिया प्रमुख को अलर्ट जारी करना पड़ा है।

नेतन्याहू का समर्थन
इजराइल में दो कट्टरपंथी यहूदी पार्टियां ऐसी हैं जो नेतन्याहू का समर्थन करती हैं। इन कट्टरपंथी पार्टियों के पास करीब 13 फीसदी वोटर्स हैं। यही पार्टियां यरूशलम में अरब मूल के लोगों की बस्तियों से मार्च निकालने जा रही हैं। हालांकि, इनका एजेंडा सियासी बताया जा रहा है।