पुतिन को पागल बताने वाली रूसी मॉडल की हत्या:फेसबुक पर लिखा था- रूस को अखंडता के नाम पर आंसू मिलेंगे; हमारा राष्ट्रपति डरपोक है

मॉस्को5 महीने पहले

यूक्रेन-रूस जंग के बीच पुतिन को पागल कहने वाली रशियन मॉडल ग्रेट वेलडर की डेथ बॉडी सूटकेस में मिली। वेलडर पुतिन के खिलाफ पोस्ट लिखने के बाद से ही लापता थीं। हालांकि, वेलडर के कत्ल का जुर्म उसके एक्स बॉयफ्रेंड ने कबूल कर लिया है। पुलिस आगे की जांच कर रही है।

FB पर लिखा था- रूस को अखंडता के नाम पर आंसू मिलेंगे
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 23 साल की रूसी मॉडल ने जनवरी 2021 में एक सोशल मीडिया पोस्ट लिखा था। इसमें पुतिन को मनोरोगी और महत्वाकांक्षी बताया था। इसके बाद से ही वो गायब थीं। पिछले दिनों लिपेत्स्क इलाके में उनकी बॉडी मिली थी। हालांकि, हत्या कब और कैसे की गई, इसकी जांच की जा रही है।

ग्रेटा वेलडर का फेसबुक पोस्ट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था, जिसके बाद से ही वे गायब थीं।
ग्रेटा वेलडर का फेसबुक पोस्ट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था, जिसके बाद से ही वे गायब थीं।

वेलडर ने अपने फेसबुक पोस्ट पर लिखा था- पुतिन जैसे लोग बचपन से ही डरपोक होते हैं। शोर और अंधेरे से डरते हैं। रूस को अखंडता का जो भूत सवार है, उसके बदले उसे आंसू मिलेंगे।

पूर्व प्रेमी बोला- पैसे में लेनदेन के लिए की हत्या
वेलडर की हत्या के बाद पुलिस ने शक के आधार पर उनके पूर्व बॉयफ्रेंड दिमित्री कोरोविन को गिरफ्तार किया। शुरूआती पूछताछ में उन्होंने बताया कि पैसे लेनदेन की वजह से उसने वेलडर की हत्या की। कोरोविन ने बताया कि हत्या के बाद वो डेथ बॉडी को सूटकेस में रखकर 3 दिन तक उसके साथ रहा। फिर कार में उसे रखकर लिपेत्स्क में फेंक दिया।

पुलिस ने हत्या के शक में वेलडर के एक्स बॉयफ्रेंड को गिरफ्तार किया है। पुलिस उससे हत्या क्यों और कब की, इसकी जानकारी जुटा रही है।
पुलिस ने हत्या के शक में वेलडर के एक्स बॉयफ्रेंड को गिरफ्तार किया है। पुलिस उससे हत्या क्यों और कब की, इसकी जानकारी जुटा रही है।

मीडिया के लिए पुतिन ने जारी किया था फरमान
यूक्रेन पर हमला करने के बाद रूस ने पिछले दिनों मीडिया के लिए खास फरमान जारी किया था। यह फरमान रूस सरकार के अंडर में काम करने वाली मीडिया रेग्युलेटरी डिवीजन ने जारी किया था। इसमें कहा गया था कि कोई भी मीडिया हाउस इस दौर में जंग, हमला या घुसपैठ जैसे शब्दों का इस्तेमाल न करे। अगर इस आदेश को नहीं माना गया तो इससे जुड़े पत्रकार को सजा हो सकती है, मीडिया हाउस बंद किया जा सकता है। इसके साथ ही तगड़ा जुर्माना लगना भी तय है।

खबरें और भी हैं...