विज्ञापन

चीन / जैक मा ने कहा- अलीबाबा में नौकरी के लिए 12 घंटे काम जरूरी, सोशल मीडिया पर हो रही निंदा

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2019, 04:34 PM IST


जैक मा। जैक मा।
X
जैक मा।जैक मा।
  • comment

  • अलीबाबा के फाउंडर ने कहा- 8 घंटे काम की सोच रखने वालों की जरूरत नहीं
  • लोगों ने सवाल किया- क्या ओवरटाइम कंपेनसेशन देती हैं कंपनियां
  • चीन की टेक इंडस्ट्री में काम की शर्तों को लेकर छिड़ी है बहस

बीजिंग. चीन की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के फाउंडर जैक मा का कहना है कि उनकी कंपनी में नौकरी करनी है तो रोज 12 घंटे और हफ्ते में 6 दिन काम करना पड़ेगा। मा ने कहा कि उन्हें ऐसे लोगों की जरूरत नहीं जो 8 घंटे नौकरी करने की सोच रखते हैं। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक उनके बयान की सोशल मीडिया पर निंदा हो रही है।

जैक मा ने किया 996 वर्क कल्चर का समर्थन

  1. एक इंटरनल मीटिंग में मा ने सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक 6 दिन काम करने के 996 वर्क कल्चर का समर्थन दिया। चीन की माइक्रोब्लॉगिंग साइट वेबो पर अलीबाबा के ऑफिसियल अकाउंट पर इसका जिक्र है।

  2. जैक मा का कहना है कि 996 के तहत काम करने में बेहद खुशी मिलती है। आपको अलीबाबा जॉइन करना है तो 12 घंटे काम करने के लिए तैयार रहना पड़ेगा नहीं तो कंपनी जॉइन कर परेशान होने की जरूरत नहीं।

  3. चीन से सबसे बड़े अमीर जैक मा के बयान की निंदा हो रही है। वेबो पर एक यूजर उनकी सोच को बकवास बताया है। यूजर ने कहा- जैक मा ने यह नहीं बताया कि क्या उनकी कंपनी 996 शेड्यूल के लिए ओवरटाइम कंपेनसेशन देती है? लोगों को अपने तर्कों की बजाय कानून का पालन करना चाहिए।

  4. एक दूसरे यूजर ने कहा कि बॉस 996 को इसलिए फॉलो करते हैं क्योंकि वो खुद के लिए काम करते हैं। इससे उनकी संपत्ति बढ़ती है। हम इसलिए करते हैं क्योंकि हमें बिना ओवरटाइन कंपेनसेशन दिए प्रताड़ित किया जाता है।

  5. जैक मा की टिप्पणी ऐसे समय आई है जब ओवरटाइम के मुद्दे पर चीन में बहस छिड़ी हुई है। मार्च में 996.आईसीयू के बैनर तले चीन की टेक इंडस्ट्री के प्रोग्रामर्स ने काम की शर्तों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था। इसके जरिए टेक इंडस्ट्री के ऐसे लोगों से आगे आने की अपील की गई जिनकी कंपनियां बिना अतिरिक्त पैसे दिए ज्यादा काम करवाती हैं। इनमें अलीबाबा और उसकी एक अन्य कंपनी आंट फाइनेंशियल का नाम भी लिया गया था।

  6. चीन की टेक इंडस्ट्री में प्रोग्रामर्स और स्टार्टअप के फाउंडर्स की अचानक मौत के कई मामले सामने आ चुके हैं। काम का लंबे समय और तनाव इसकी वजह बताई जाती है। मार्च में विरोध प्रदर्शन के दौरान भी प्रोग्रामर्स ने यही मैसेज दिया था कि 996 वर्क शेड्यूल को फॉलो कर आप खुद को आईसीयू में पहुंचाने का जोखिम उठा रहे हैं।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन