• Hindi News
  • International
  • Jammu Kashmir National Awami Party JKNAP Pakistan PM Imran Khan Stop Human Rights Violations PoK Violence

PoK में हिंसा पर कश्मीरी पार्टी भड़की:नेशनल अवामी पार्टी बोली- PoK के लोगों को बोलने और जीने का हक मिले, वहां दिनदहाड़े हत्याएं हो रहीं

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

PoK में हिंसा पर जम्मू कश्मीर नेशनल अवामी पार्टी (JKNAP) ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की आलोचना की है। JKNAP ने फेसबुक पर जारी बयान में कहा कि यहां हो रहे मानवाधिकारों के उल्लंघन पर रोक लगे। PM खान सुनिश्चित करें कि इन्हें बोलने और जीने की आजादी मिले।

PoK के नीलम जिले की शारदा घाटी में सोमवार को पाकिस्तान के अर्धसैनिक बल ने भीड़ पर गोलीबारी की थी। इसमें दो लोगों की मौत हो गई और 12 से अधिक घायल हो गए थे। इस पर JKNAP ने कहा कि आजाद जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा के नाम पर दिनदहाड़े सुरक्षा बलों द्वारा युवक की हत्या निंदनीय है। हम न्याय चाहते हैं। हत्यारों को सजा हो।

पाकिस्तान के कब्जे की वजह से कश्मीरियों का जीवन खतरे में
बयान में कहा गया कि पाकिस्तान के अवैध कब्जे की वजह से कश्मीरियों का जीवन खतरे में है। पाकिस्तानी आजाद जम्मू और कश्मीर में राज्य विषय कानून को कमजोर करने या समाप्त करने का प्रयास अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन है। हम यह एक्सेप्ट नहीं करेंगे। इंटरनेशनल कोर्ट और वर्ल्ड कम्युनिटी के सामने इस मसले को लेकर जाएंगे।

स्टेट सब्जेक्ट की तुरंत बहाली की जाए
JKNAP ने कहा, 'हम स्टेट सब्जेक्ट की तुरंत बहाली की मांग करते हैं। साथ ही गिलगित-बाल्टिस्तान में राज्य विषय कानून के हटाए जाने के बाद हुए कंस्ट्रक्शन, खरीद और अप्वाइंटमेंट को हटाया जाए। PoK के लोगों की नागरिक स्वतंत्रता में सालों से कटौती हो रही है। एक स्वतंत्र जम्मू और कश्मीर की विचारधारा वाले राजनीतिक दलों को स्थानीय चुनावों में भाग लेने नहीं दिया जाता है।'

किताबों पर बैन हटाएं इमरान खान
बयान में कहा गया कि हम इमरान खान से किताबों पर बैन हटाने की मांग करते हैं। यहां शांति को बढ़ावा देने के लिए मुजफ्फराबाद सरकार को मजबूत किया जाए, ताकि रिप्रेजेंटेटिव इसके शांतिपूर्ण समाधान के लिए इंटरनेशनल कम्युनिटी से मांग कर सकें।

PoK में चुनाव पर भारत की दो टूक
PoK में हुए चुनावों को लेकर भारत ने कड़ा ऐतराज जताया। भारत ने पाकिस्तान से साफ शब्दों में कहा कि PoK में उसने अवैध कब्जा किया है। इन भारतीय क्षेत्रों पर पाकिस्तान का कोई अधिकार नहीं है। पाकिस्तान अवैध कब्जे वाले सभी भारतीय क्षेत्रों को फौरन खाली करे। यहां चुनावी प्रक्रिया पूरी तरह से गलत है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि PoK के लोगों का शोषण और उन्हें उनकी स्वतंत्रता से वंचित रखना पूरी तरह से मानव अधिकारों का उल्लंघन है। PoK में पाकिस्तान के द्वारा करवाया जा रहा तथाकथित चुनाव इस क्षेत्र की भौतिक बदलाव को छिपाने की साजिश है। हमने पाकिस्तान से इस पर विरोध दर्ज कराया है।

खबरें और भी हैं...