चेतावनी / नेपाल दौरे पर जिनपिंग ने कहा- चीन को विभाजित करने वालों का कचूमर निकाल दिया जाएगा

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी।
X
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी।चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी।

  • राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बयान को चार महीने से जारी हॉन्गकॉन्ग प्रदर्शन से जोड़कर देखा जा रहा
  • जिनपिंग ने कहा- भारत और चीन के बीच सहयोग को मतभेदों से खत्म नहीं किया जाना चाहिए

दैनिक भास्कर

Oct 14, 2019, 02:01 PM IST

काठमांडू. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने नेपाल दौरे के दौरान सख्त लहजे में कहा कि चीन को विभाजित करने के किसी भी प्रयास को कुचल दिया जाएगा। अगर कोई इसकी कोशिश करेगा तो उसका कचूमर निकाल दिया जाएगा। देश में आजादी की वकालत करने वालों की हडि्डयां तोड़ दी जाएंगी। देश को बांटने का प्रयास करने वाले या उनके समर्थकों को नहीं छोड़ा जाएगा।

 

जिनपिंग का यह बयान हॉन्गकॉन्ग में प्रत्यर्पण बिल के खिलाफ चार महीने से जारी प्रदर्शन से जोड़कर देखा जा रहा है। हालांकि, उन्होंने संबोधन में किसी भी क्षेत्र का नाम नहीं लिया। वहीं, नेपाल में राष्ट्रपति जिनपिंग के दौरे का तिबब्त के लोग वहां विरोध कर रहे थे। हालांकि, नेपाल सरकार ने इन लोगों पर कड़ी कार्रवाई की।

 

हॉन्गकॉन्ग में प्रदर्शनकारियों ने पटरियां तोड़ीं

हॉन्गकॉन्ग के लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों ने सप्ताह के अंत में फिर से प्रदर्शन किया। रविवार को शहर के कई मोहल्लों में रैलियां हुईं। कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़कों पर जाम लगा दिया, ट्रेन की पटरियां तोड़ दीं। साथ ही चीनी समर्थक होने के संदेह में व्यवसायों पर भी हमला किया। चीन ने अर्ध-स्वायत्त क्षेत्र में अशांति फैलाने के लिए बाहरी ताकतों पर आरोप लगाया है।

 

जिनपिंग ने भारत-चीन के विकास के लिए 6 सूत्रीय फॉर्मूला दिया

तमिलनाडु के महाबलीपुरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अनौपचारिक बैठक के दौरान जिनपिंग ने दोनों देशों के संबंधों के निरंतर विकास के लिए छह सूत्रीय प्रस्ताव दिया था। उन्होंने कहा कि भारत-चीन के संबंधों को विवादों के बावजूद कमजोर नहीं होने दिया जाएगा। अगले कुछ साल दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों के लिए महत्वपूर्ण हैं। चीन और भारत को अच्छे पड़ोसी बनकर रहना चाहिए। ड्रैगन और हाथी का एक साथ होना ही सही है।

 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना