• Hindi News
  • International
  • Kabul Blasts US President Joe Biden Pledges To Strike Back Says Won't Alter Evacuation Mission In Afghanistan

काबुल के हमलावरों को कड़ी चेतावनी:अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन बोले- ढूंढ-ढूंढ कर मारेंगे; सेना को आदेश- ISIS-K पर हमले की योजना बनाएं

वॉशिंगटन5 महीने पहले

काबुल एयरपोर्ट पर गुरुवार को आतंकी संगठन ISIS के खुरासान ग्रुप (ISIS-K) के हमले में 13 अमेरिकी सैनिक और 95 अफगानी मारे गए हैं। काबुल में हमला करने वाले आतंकियों को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कड़ी चेतावनी दी है। बाइडेन ने कहा है- 'हमलावर सुन लें, हम तुम्हे माफ नहीं करेंगे। इस हमले को हम भूलेंगे नहीं। हम बदला लेंगे और तुम्हे ढूंढ-ढूंढ कर मारेंगे।'

बाइडेन ने कहा, 'हमें ISIS के उन नेताओं के बारे में पता है जिन्होंने काबुल में हमले का आदेश दिया था। हम बिना किसी बड़े मिलिट्री ऑपरेशन के उन्हें ढूंढ़ निकालने के रास्ते खोज लेंगे, चाहे वे कहीं भी हों।'

काबुल धमाकों की बात करते हुए जो बाइडेन इमोशनल हो गए। उन्होंने कहा कि काबुल में अपना मिशन जारी रखेंगे।
काबुल धमाकों की बात करते हुए जो बाइडेन इमोशनल हो गए। उन्होंने कहा कि काबुल में अपना मिशन जारी रखेंगे।

सही समय और सही जगह पर करारा जवाब देंगे
बाइडेन ने अमेरिकी सेना से कहा है कि ISIS-K पर हमले की योजना बनाएं। हम सही समय और सही जगह पर करारा जवाब देंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति ने ये भी साफ किया है कि काबुल से अमेरिकियों और अफगानियों का निकालने का मिशन जारी रहेगा। हम आतंकियों से डरेंगे नहीं और न ही उन्हें अपना मिशन नहीं रोकने देंगे। जरूरत पड़ी तो और ज्यादा सैनिक अफगानिस्तान भेजे जाएंगे।

उन लोगों को खोया जिन्होंने आजादी की लड़ाई लड़ी
काबुल हमले में मारे गए अपने सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, 'हमने उन लोगों को खोया है जिन्होंने आजादी की लड़ाई लड़ी, सुरक्षा के लिए लड़े, जिन्होंने अमेरिका के साथ-साथ दूसरों की सेवा भी की। कभी भी मेरा विचार ये नहीं रहा कि अफगानिस्तान में लोकतांत्रिक सरकार बनाने के लिए हमें अमेरिकी सैनिकों का बलिदान देना चाहिए। अफगानिस्तान एक ऐसा देश है जो अपने पूरे इतिहास में एक बार भी एक संयुक्त देश नहीं रहा। यहां 20 साल के युद्ध को खत्म करने का यही समय था।'

काबुल एयरपोर्ट पर फिर से हमले का खतरा
अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में स्थित हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के ठीक सामने गुरुवार शाम दो फिदायीन हमलों समेत तीन धमाके हुए। ISIS-K के इन हमलों में 13 अमेरिकी सैनिकों समेत 108 लोगों की मौत हुई है और 1338 से ज्यादा जख्मी हैं। एयरपोर्ट पर अभी और भी आतंकी हमले होने का खतरा है। अमेरिकन ब्रॉडकास्ट कंपनी (ABC) के मुताबिक एयरपोर्ट के नॉर्थ गेट पर कार बम ब्लास्ट का खतरा है। ऐसे में काबुल स्थित अमेरिकी दूतावास ने नया अलर्ट जारी किया है। पूरी खबर पढ़ें...

खबरें और भी हैं...