कश्मीर / इमरान का दावा- कश्मीर मुद्दे पर ईरान ने समर्थन किया; प्रेस कान्फ्रेंस में रूहानी ने जिक्र तक नहीं किया



तेहरान में रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इमरान और हसन रूहानी। तेहरान में रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इमरान और हसन रूहानी।
X
तेहरान में रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इमरान और हसन रूहानी।तेहरान में रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इमरान और हसन रूहानी।

  • पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ईरान और सऊदी अरब के बीच तनाव कम करने के लिए दोनों देशों की यात्रा पर हैं
  • ईरान के राष्ट्रपति ने इमरान के साथ संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में कश्मीर शब्द तक नहीं बोला

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2019, 05:24 PM IST

तेहरान. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कश्मीर मुद्दे पर उपहास का पात्र बन गए हैं। रविवार को ईरान यात्रा के दौरान इमरान ने यहां के राष्ट्रपति हसन रूहानी के साथ संयक्त प्रेस वार्ता की। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, इस दौरान इमरान ने रूहानी का शुक्रिया अदा किया क्योंकि उन्होंने कश्मीर पर पाकिस्तान के रुख का समर्थन किया। लेकिन, सबसे हैरानी की बात ये है कि इसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में रूहानी ने कश्मीर का जिक्र करना तो दूर, एक बार भी कश्मीर शब्द ही नहीं बोला। विदेशी मीडिया ने भी रूहानी द्वारा कश्मीर मुद्दे का जिक्र न किए जाने की पुष्टि की है।

 

सरकारी ट्विटर हैंडल पर भी झूठ
‘गवर्नमेंट ऑफ पाकिस्तान’ के ट्विटर हैंडल पर इमरान और ईरान के सर्वोच्च धर्मगुरु अयोतुल्लाह खमैनी की मुलाकात का जिक्र है। इसके कैप्शन में कहा गया- प्रधानमंत्री ने ईरान के सर्वोच्च धर्मगुरु से मुलाकात की। इमरान ने खमैनी का कश्मीर मुद्दे पर समर्थन के लिए शुक्रिया अदा किया। बीबीसी के मुताबिक, संयुक्त प्रेस वार्ता में इमरान ने रूहानी को कश्मीर मुद्दे पर समर्थन के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, “मैं राष्ट्रपति रूहानी का शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होंने कश्मीर मुद्दे पर बयान दिया। उन्होंने कश्मीर में मानवाधिकार पर भी चिंता जताई है।” इसी रिपोर्ट में साफ कहा गया कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में रूहानी ने कश्मीर का जिक्र भी नहीं किया।

सच्चाई कुछ और
इमरान का दावा कुछ भी हो लेकिन सच्चाई ये है कि ईरान के राष्ट्रपति ने इमरान के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में कश्मीर पर एक शब्द भी नहीं बोला। बता दें कि पिछले दिनों सऊदी अरब की आरामको रिफाईनरी पर ड्रोन हमला हुआ। आरोप ईरान पर लगा। सऊदी अरब और ईरान के रिश्तों में तनाव आ गया। अमेरिका सऊदी सरकार के साथ खड़ा हो गया। इमरान इसी तनाव को कम करने के लिए अघोषित मध्यस्थ के तौर पर दोनों देशों की यात्रा कर रहे हैं। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना