• Hindi News
  • International
  • Keanu Reeves Faces Backlash From Chinese Social Media Users Over Tibet Benefit Concert The Matrix Resurrections

हॉलीवुड स्टार कीनू रीव्स चीन में ट्रोल:तिब्बत से जुड़े प्रोग्राम को लेकर सोशल मीडिया यूजर खफा, मैट्रिक्स 4 के खिलाफ चला रहे अभियान

वॉशिंगटन10 महीने पहले

हॉलीवुड सुपर स्टार कीनू रीव्स को चीन के सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया जा रहा है। इसकी वजह वो खबर है जिसमें कहा है कि कीनू तिब्बत हाउस यूएस बेनिफिट कॉन्सर्ट में शामिल होंगे। द हॉलीवुड रिपोर्टर के मुताबिक, चीन के सोशल मीडिया यूजर जिन्हें 'लिटिल पिंक्स' भी कहा जाता है, वे कीनू की हालिया रिलीज मूवी 'द मैट्रिक्स रिसरेक्शंस' (मैट्रिक्स 4) को चीन में फ्लॉप करने के लिए अभियान चला रहे हैं।

कीनू के खिलाफ हो रहे विरोध का असर उनकी फिल्म 'द मैट्रिक्स रिसरेक्शंस' के कलेक्शन पर भी पड़ा है। मैट्रिक्स स्टार के कॉन्सर्ट में शामिल होने की खबर से पहले फिल्म ने चीन में 56 करोड़ का कारोबार किया था, लेकिन इस खबर के बाद सिर्फ 36 करोड़ का ही कलेक्शन ही कर पाई। हालांकि, एक्सपर्ट्स के मुताबिक चीन में बॉक्स ऑफिस कलेक्शन घटने से इस फिल्म को बनाने वाले वार्नर ब्रदर्स स्टूडियो को ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा।

कीनू ने नहीं दिया कोई बयान

तिब्बत हाउस की स्थापना 1987 में की गई थी। यह एक प्राइवेट NGO है
तिब्बत हाउस की स्थापना 1987 में की गई थी। यह एक प्राइवेट NGO है

इस हफ्ते ही यह खबर सामने आई थी कि 3 मार्च को 35वें वार्षिक तिब्बत हाउस यूएस बेनिफिट कॉन्सर्ट में कीनू रीव्स, पैटी स्मिथ, ट्रे अनास्तासियो, जेसन इसबेल और इग्गी पॉप का नाम शामिल है। हालांकि, अभी तक कीनू की तरफ से इसे लेकर कोई बयान जारी नहीं किया गया है।

ब्रैड पिट और कैटी पेरी समेत कई लोगों पर बैन

चीन तिब्बती में मानवाधिकार के लिए बोलने वाले या फिर दलाई लामा से मिलने पर कई हॉलीवुड सेलिब्रिटी को अपने यहां बैन कर चुका है। इनमें लेडी गागा, ब्रैड पिट, कैटी पेरी, जस्टिन बीबर, बॉन जोवी, ब्योर्क, बॉब डिलन और रिचर्ड गेरे जैसे नाम शामिल हैं। चीन दलाई लामा को आतंकवादी मानता है, इस वजह से वो उन्हें लेकर आक्रामक मोड में रहता है।

1987 में हुई थी तिब्बत हाउस की स्थापना
दलाई लामा के समर्थकों ने 1987 में तिब्बत हाउस की स्थापना की थी। यह एक प्राइवेट NGO है जो तिब्बत की आजादी और उसके लोगों के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आवाज उठाता है। हालांकि, चीन इसे तिब्बती स्वतंत्रता की वकालत करने वाला अलगाववादी संगठन मानता है। 2013 की चीनी मार्शल आर्ट फिल्म 'मैन ऑफ ताई ची' में काम करने के बाद चीन में कीनू की पॉपुलैरिटी काफी बढ़ गई थी, लेकिन इस खबर ने उन्हें चीन में विलेन बना दिया है।