थाईलैंड में 36 की हत्या, इनमें 24 बच्चे:हमलावर और उसका परिवार भी खत्म

बैंकॉक2 महीने पहले
हमलावर थाईलैंड पुलिस का पूर्व ऑफिसर था।

थाईलैंड में गुरुवार को एक पूर्व पुलिस अफसर ने चाइल्ड केयर सेंटर में अंधाधुंध फायरिंग की। घटना में 24 बच्चों समेत 36 मौतें हुईं। हमलावर ने अपने परिवार को भी खत्म कर दिया, फिर खुदकुशी कर ली। इस वारदात में ड्रग्स का एंगल है। पूरी घटना जानें इससे पहले इस सवाल का जवाब दीजिए।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, फायरिंग उत्तरी प्रांत के नॉन्गबुआ लम्फू में हुई। हमलावर पूर्व पुलिस अफसर पन्या खमरब (34) था। ड्रग्स के एक केस के सिलसिले में उसे नौकरी से निकाल दिया गया था।चाइल्ड केयर सेंटर में फायरिंग के बाद खमरब ने खुदकुशी कर ली। इससे पहले उसने अपनी पत्नी और बेटे को भी मार डाला।

सबसे पहली तस्वीर हमलावर की और इस हमले की वजह

थाइलैंड के सेंट्रल इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (CIB) के अफसर मेजर जनरल जिरापोब पुरिडेट के मुताबिक, हमलावर खमरब हाईली एजुकेडेट और फिट था। पुलिस में अफसर बना, लेकिन चंद महीने में ही ड्रग स्मगलिंग से जुड़ गया। इंटर ऑफिस ड्रग टेस्ट में फेल होने के बाद उसे बर्खास्त कर दिया गया। इसके बाद वो फुल टाइम ड्रग स्मगलर बन गया। एक बार उसे गिरफ्तार भी किया गया था। वो केस अब भी कोर्ट में चल रहा है। माना जा रहा है कि नौकरी से निकाले जाने की वजह से ही खमरब ने फायरिंग की।

फायरिंग के दौरान ही थाईलैंड पुलिस ने यह फोटो जारी किया। इसमें पन्या खमरब को मोस्ट वांटेड बताया गया। बाद में उसने खुदकुशी कर ली।
फायरिंग के दौरान ही थाईलैंड पुलिस ने यह फोटो जारी किया। इसमें पन्या खमरब को मोस्ट वांटेड बताया गया। बाद में उसने खुदकुशी कर ली।

आंखोंदेखी- स्टाफ को मारा, गर्भवती और 2 साल के बच्चे को भी नहीं छोड़ा

जिस वक्त फायरिंग शुरू हुई, तब लोकल अधिकारी जिडापा बूनसोम पास ही काम कर रहे थे। बोले- ऐसा लगा जैसे पटाखे चल रहे हों। बाद में शूटिंग का पता चला। हमलावर ने बच्चों पर गोलियां चलाईं। शूटिंग में दो साल का बच्चा और गर्भवती भी मारे गए। हमलावर दोपहर के वक्त चाइल्ड केयर सेंटर में दाखिल हुआ। तब वहां लंच चल रहा था। उसने स्टाफ पर गोलियां दागीं। इसके बाद वह एक बंद कमरे में जबरदस्ती घुसा, यहां बच्चे सो रहे थे।

सोशल मीडिया पर एक बच्चे के बचने की कहानी और फोटो

ये फोटो यूजर ने सोशल मीडिया पर शेयर किया। दावा है कि फोटो चाइल्ड केयर सेंटर की है, जहां फायरिंग हुई।
ये फोटो यूजर ने सोशल मीडिया पर शेयर किया। दावा है कि फोटो चाइल्ड केयर सेंटर की है, जहां फायरिंग हुई।

फायरिंग की घटना के बाद वुट्ठूचाई बाओथॉन्ग नाम के यूजर ने एक फोटो अपने फेसबुक पेज पर शेयर की। इसमें एक छोटा बच्चा और कुछ लोग आसपास बैठे दिखाई दे रहे हैं। इनके चेहरे ब्लर हैं। बाओथॉन्ग ने लिखा कि उनका भतीजा भी चाइल्ड केयर सेंटर में था, लेकिन वो फायरिंग में बच गया। घटना से पहले ही वह सोने चला गया था और कंबल ओढ़ लिया था। वह गहरी नींद में था। इसकी वजह से उसकी आंख नहीं खुली। हमलावर ने समझा कि वो मर गया है। इस तरह उनका भतीजा बच गया।

फायरिंग की घटना की 5 तस्वीरें...

फायरिंग के बाद लोग बदहवासी में भागते नजर आए।
फायरिंग के बाद लोग बदहवासी में भागते नजर आए।
घटना के दौरान सुरक्षा बलों ने हमलावर को घेर लिया था।
घटना के दौरान सुरक्षा बलों ने हमलावर को घेर लिया था।
चाइल्ड केयर सेंटर की तस्वीर। हमलावर ने यहां भी स्टाफ पर गोलियां दागीं।
चाइल्ड केयर सेंटर की तस्वीर। हमलावर ने यहां भी स्टाफ पर गोलियां दागीं।
फायरिंग में घायल व्यक्ति को हॉस्पिटल ले जाते रेस्क्यू टीम के मेंबर्स।
फायरिंग में घायल व्यक्ति को हॉस्पिटल ले जाते रेस्क्यू टीम के मेंबर्स।
शूटिंग के दौरान थाईलैंड के सुरक्षाकर्मी।
शूटिंग के दौरान थाईलैंड के सुरक्षाकर्मी।

2020 में भी हुई थी मॉस शूटिंग

8 फरवरी 2020 को थाईलैंड के नाखों रतचासिस्मा शहर में एक सिरफिर ने यहां के मशहूर टर्मिनल 21 शॉपिंग मॉल में फायरिंग की थी। घटना में 29 लोगों की मौत हो गई थी और 58 जख्मी हुए थे। हमलावर फरार हो गया था। करीब 18 घंटे बाद घटनास्थल से 60 किलोमीटर दूर पुलिस ने उसे एनकाउंटर में मार गिराया था।

​​​​​​​थाईलैंड में गन कल्चर कुछ साल में तेजी से बढ़ा है। यहां गन रखनेवालों की तादाद दक्षिण एशिया के बाकी मुल्कों की तुलना में काफी ज्यादा है। इसके साथ ही क्राइम रेट में भी इजाफा हुआ है।