पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • International
  • KP Sharma Oli Statement Social Media Reaction: Ayodhya Ram Mandir Pujari Lash Out At Nepal PM Over Lord Ram Is Nepali

अपने ही देश में घिरे नेपाल के पीएम:भगवान राम को नेपाल का बताने वाले प्रधानमंत्री ओली के बयान पर सफाई, नेपाल ने कहा- किसी की आस्था को ठेस पहुंचाने का इरादा नहीं था

काठमांडूएक वर्ष पहले
नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने सोमवार को कहा कि भगवान राम भारतीय नहीं, नेपाली थे।
  • नेपाल के विदेश मंत्रालय ने कहा- प्रधानमंत्री ओली का इरादा अयोध्या के महत्व और सांस्कृतिक मूल्य का अपमान करना नहीं था
  • नेपाली पीएम के पूर्व मीडिया सलाहकार और प्रोफेसर कुंदन आर्यल ने कहा- क्या ओली भारत के न्यूज चैनल से प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं
  • राम मंदिर ट्रस्ट के सदस्य महंत दिनेंद्र दास ने बताया- भगवान राम का जन्म अयोध्या में सरयू नदी के किनारे हुआ था

भगवान राम और अयोध्या नेपाल में होने का दावा करने वाले प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के बयान पर विदेश मंत्रालय ने सफाई दी है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि प्रधानमंत्री ओली का बयान किसी भी राजनीतिक विषय से जुड़ा हुआ नहीं है। उनका इरादा किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था और न ही अयोध्या के महत्व और सांस्कृतिक मूल्य का अपमान करना था।

विदेश मंत्रालय ने प्रधानमंत्री का बचाव करते हुए कहा कि श्री राम और उनसे जुड़े स्थानों के बारे में कई मिथक और संदर्भ हैं। प्रधानमंत्री ओली रामायण से जुड़े तथ्यों और रिसर्च की अहमियत पर जोर दे रहे थे।

नेपाल के प्रधानमंत्री ने सोमवार को दावा किया था कि अयोध्या भारत में नहीं, बल्कि बीरगंज में स्थित एक छोटा सा गांव है। साथ ही उन्होंने भगवान राम को नेपाली बताया था। इस बयान के बाद ओली अपने ही देश में घिरते दिख रहे हैं। नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री बाबू राम भट्टाराई ने भी ट्वीट किया, ‘‘आदि-कवि ओली द्वारा रचित कलयुग की नई रामायण सुनिए, सीधे बैकुंठ धाम का यात्रा करिए।’’

ओली के पूर्व मीडिया सलाहकार और प्रोफेसर कुंदन आर्यल ने ट्वीट किया- ओली ने ये क्या कह दिया? क्या वे भारत के न्यूज चैनल से प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं।

नेपाल के वरिष्ठ पत्रकार अमित ढकाल ने तंज कसते हुए कहा- श्रीलंका का द्वीप नेपाल के कोशी में है। इसके पास ही हनुमान नगर भी है, जिसका निर्माण वानर सेना ने पुल बनाने के समय किया होगा।

नेपाल के पूर्व उपप्रधानमंत्री कमल थापा ने ट्वीट किया- किसी भी प्रधानमंत्री को इस तरह का आधारहीन और अप्रमाणित बयान नहीं देना चाहिए। ऐसा लग रहा है कि ओली भारत और नेपाल के संबंध और खराब करना चाहते हैं, जबकि उन्हें तनाव को खत्म करने के लिए काम करना चाहिए।

भारत में भी खिंचाई
ओली के इस बयान से अयोध्या के संत भी नाराज हो गए थे। उन्होंने कहा कि नेपाली पीएम ने चीन के दबाव में ऐसा बयान दिया है। राम मंदिर ट्रस्ट के सदस्य महंत दिनेंद्र दास ने बताया कि भगवान राम का जन्म अयोध्या में सरयू नदी के किनारे हुआ था। हां, यह सही है कि सीता जी नेपाल की थीं, लेकिन यह दावा करना कि भगवान राम नेपाली हैं, यह बिल्कुल गलत है।

ओली मानसिक संतुलन खो चुके हैं: अभिषेक मनु सिंघवी
कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट किया- नेपाली पीएम ओली अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं। वे कठपुतली हैं, जो चीन की लाइनें बोल रहे हैं। जो वे बोल रहे हैं, वो नेपाल की तरफ से पहले कभी नहीं कहा गया। नेपाल से अयोध्या सैकड़ों किमी दूर है, लेकिन वे उसे अपना हिस्सा बता रहे हैं।

ट्विटर यूजर्स ने भी मजाक उड़ाए

एक यूजर ने लिखा- ओली एक दिन यह ट्वीट करेंगे कि न्यूयॉर्क अमेरिका नहीं, नेपाल में स्थित है। असली ऑस्ट्रेलिया भी नेपाल में ही है। असली पेरिस, टोक्यो, लंदन, बर्लिन, लास वेगास, इस्लामाबाद सब नेपाल में ही है।

ओली ने राम को नेपाली बताया था

ओली अपने निवास पर भानु जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा था कि भगवान राम भारतीय नहीं, नेपाली थे। उन्होंने यह भी कहा कि असली अयोध्या भारत में नहीं, नेपाल के बीरगंज में है। उन्होंने भारत पर सांस्कृतिक दमन का आरोप भी लगाया था। ओली ने कहा कि विज्ञान के लिए नेपाल के योगदान को हमेशा नजरंदाज किया गया।



ये भी पढ़ें:

केपी शर्मा ओली ने कहा- भगवान राम नेपाली थे, असली अयोध्या भी भारत में नहीं थी, यह काठमांडू के करीब छोटा सा गांव था

खबरें और भी हैं...