नेताओं पर ऑक्सफोर्ड की रिसर्च:आम जनता के मुकाबले 3 से 7 साल तक ज्यादा जीते हैं नेता, उनकी आय में भी हो रहा इजाफा

लंदन5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आम जनता के मुकाबले पॉलिटिशियन 3 से 7 साल तक लंबा जीवन जीते हैं। लंबा जीवन जीने की इच्छा 45 साल की उम्र के नेता में सबसे अधिक पाई जाती है। यूरोपियन जर्नल ऑफ एपिडेमियोलॉजी में प्रकाशित ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक नए अध्ययन में यह खुलासा हुआ है। इसमें चौंकाने वाला तथ्य यह सामने आया है कि 19वीं शताब्दी में नेता करीब 150 साल तक जीने की इच्छा रखते थे।

अध्ययन में करीब 11 देश ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड्स, न्यूजीलैंड, स्विट्जरलैंड, अमेरिका और यूरोप के नेताओं की जानकारी इकट्‌ठी की गई। इसमें 57,561 नेताओं के डाटा पर आकलन हुआ। जिसमें से 40,637 की मृत्यु हो गई है। इसमें फ्रांस की 3 फीसदी और USA और जर्मनी की 21 फीसदी महिला नेता का डेटा शामिल है।

सभी देश से 1945 से 2014 के बीच डेटा लिया गया। फ्रांस का 1816 से 2017 तक का डेटा पूर्ण विश्लेषण के लिए लिया गया। इसमें सामने आया कि 19वीं सदी में नेता और आम जनता की आयु में कोई खास परिवर्तन नहीं था दोनों एक सी उम्र तक जीते थे, लेकिन 20वीं शताब्दी में नेताओं की कमाई में तेजी से इजाफा हुआ। ज्यादा कमाई और बेहतर स्वास्थ्य के साथ ही तकनीक का बेहतर तरीके से इस्तेमाल और बेहतर खान-पान के कारण नेताओं का जीवन लंबा हो रहा है।

अप्रैल 2022 में अमेरिका के एक नेता की बेसिक आमदनी करीब 80 लाख रुपए तक आंकी गई है।
अप्रैल 2022 में अमेरिका के एक नेता की बेसिक आमदनी करीब 80 लाख रुपए तक आंकी गई है।

3 से 21% फ्रांस व अमेरिका की महिला नेता भी ऐसी
सर्वे में पाया गया कि इटली में एक जैसी उम्र की जनता व राजनेता में पॉलिटिशियन 2.2 गुना, न्यूजीलैंड में 1.2 गुना ज्यादा जीते है। स्विट्जरलैंड में 3 साल व अमेरिका में 7 साल लंबा जीवन जीते है। इंग्लैड में नेता 10 साल अधिक लंबा जीवन जीते हैं।

आम जनता और नेताओं की मृत्युदर में तुलनात्मक अध्ययन में यह बात सामने आई है। इस फ्रांस व अमेरिका की 3 से लेकर 21 फीसदी महिला नेताओं में भी इस तरह का परिवर्तन आया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि इससे स्पष्ट है कि नेताओं व आम जनता के बीच जीवन की खाई गहरी होती जा रही है।

खबरें और भी हैं...